जज लोया मामला: विपक्षी दलों की बैठक आज, चीफ जस्टिस के खिलाफ फिर महाभियोग प्रस्ताव लाने की तैयारी में कांग्रेस?

Apr 20,2018, 10:04 AM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई करने वाले विशेष जज बीएच लोया की संदिग्ध परिस्थितियों हुई मृत्यु की स्वतंत्र जांच की मांग करने वाली याचिकाएं गुरुवार को खारिज कर दी. जिसके बाद बीजेपी और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गया है. विपक्षी दलों ने जहां आगे की रणनीति तय करने के लिए आज बैठक बुलाई है. वहीं सत्ता पक्ष का कहना है कि कांग्रेस बेनकाब हो चुकी है.सूत्रों ने बताया कि विपक्षी पार्टियों के नेता आज गुलाम नबी आजाद के संसद स्थित चैंबर में मिलेंगे. जहां जज लोया की मौत की स्वतंत्र जांच की मांग करने वाली याचिकाओं को खारिज करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर चर्चा की संभावना है. साथ ही चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को पद से हटाने के लिये महाभियोग लाने के प्रस्ताव के मुद्दे पर भी चर्चा होने की संभावना है.विपक्ष चीफ जस्टिस को हटाने के लिये प्रस्ताव पेश करने (महाभियोग) के लिये व्यापक आम सहमति बनाने के लिये विभिन्न दलों को एक साथ लाने पर काम कर रहा है. जहां वाम दल, एनसीपी और कांग्रेस सीजेआई को हटाने के लिये प्रस्ताव पेश करने पर सहमत है , वहीं इस बारे में याचिका पर हस्ताक्षर करने वाले कुछ राजनैतिक दलों ने अपने कदम पीछे खींच लिये हैं.आपको बता दें कि कुछ महीने पहले सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जस्टिस जस्टिस जे चेलमेशवर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसफ ने मीडिया के सामने आकर सीजेआई दीपक मिश्रा की प्रशासनिक कार्यशैली पर सवाल उठाए थे. इसके बाद कांग्रेस, वामदलों ने महाभियोग की तैयारी शुरू की थी. हालांकि समर्थन नहीं मिलने की वजह से पैर पीछे खींच लिये थे. अब एक बार फिर जज बी एच लोया मामले में कांग्रेस और वामदल बैकफुट पर है ऐसे में विपक्षी पार्टियां महाभियोग पर विचार कर रही है.


सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इन याचिकाओं से यह साफ हो जाता है कि न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर सीधा हमला करने का हकीकत में प्रयास किया गया और मौजूदा मामला व्यक्तिगत एजेन्डे को आगे बढ़ाने की मंशा जाहिर करता है. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कहा कि जज लोया की मृत्यु को लेकर याचिकायें प्रतिद्वंद्वियों के इशारे पर राजनीतिक हिसाब बराबर करने के इरादे से दायर की गई थीं. याचिकाओं में जज लोया की जिन परिस्थतियों में मौत हुई थी उसको लेकर संदेह जताया गया था.

क्या है मामला?
जज लोया मृत्यु से पहले सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले में मुकदमा चला रहे थे. एक दिसंबर, 2014 को नागपुर में उनकी मृत्यु हो गई थी. वह वहां अपने एक सहयोगी की पुत्री के विवाह में शामिल होने गये थे. आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार उनकी मृत्यु दिल का दौरा पड़ने के कारण हुई थी. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले में आरोपी थे. हालांकि, उन्हें बाद में आरोप मुक्त कर दिया गया था. शाह मुठभेड़ के समय गुजरात के गृह राज्यमंत्री थे.

News Next

नई दिल्ली: बाल अधिकारों के लिए काम करने वाले गैर सरकारी संगठन क्राई ( चाइल्ड राइट्स एंड यू ) के एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में हर 15 मिनट में एक बच्चा यौन अपराध का शिकार बनता

बॉलीवुड एक्टर टाइगर श्रॉफ और एक्ट्रेस दिशा पाटनी की फिल्म "बागी-2" बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई। फिल्म को रिलीज हुए तीन हफ्ते हो गए हैं। जहाँ फिल्म ने पहले हफ्ते में

Previous News

अजमेर सेन्ट्रल में गुरुवार तड़के उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक कैदी ने दूसरे कैदी पर नुकीली चीज से वारकर उसे मौत के घाट उतार दिया. वारदात का शिकार हुआ कैदी और आरोपी कैदी दोनों

भरतपुर। राजस्थान के भरतपुर में अवैध रूप से चल रहे पेट्रोल बिक्री के स्टोर में अचानक विस्फोट हो गया, जिससे वहां भीषण आग लग गई। इस हादसे में पेट्रोल बेचने वाला एक व्यक्ति

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

भारत में चुनाव बैलेट पेपर पर होने चाहिए या ईवीएम मशीन पर