10 घंटे चला दिल्ली पुलिस का धरना, हिंसा पर आज हाईकोर्ट में सुनवाई

0
77
  • दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर जवानों का प्रदर्शन खत्म
  • तीस हजारी कोर्ट में भिड़ गए थे पुलिस-वकील

दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट के बाहर 2 नवंबर को पुलिस और वकीलों के बीच जो हिंसक झड़प का मुद्दा और भी गरमा गया है. हालांकि, पुलिस की सभी मांगों को मानने के बाद मुख्यालय के सामने से पुलिसकर्मियों का धरना खत्म हो गया है. प्रदर्शनकारी वहां से हटने लगे हैं.

साथ ही सुबह से रोका गया ट्रैफिक 10 घंटे के बाद बहाल कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस ने अपने कर्मियों की सभी मांगें मान ली हैं. हालांकि, पुलिसकर्मी अब मुख्यालय से हटकर इंडियागेट पहुंचने लगे हैं. वहां पर धरना शुरू हो गया है. इस बीच हिमाचल प्रदेश आईपीएस असोसिएशन ने भी तीस हजारी कोर्ट में हुए दिल्ली पुलिस पर हिंसा की निंदा की है.

इससे पहले मंगलवार सुबह से ही दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर सैकड़ों की संख्या में जवान जुटे हैं और नारेबाजी कर रहे हैं. पुलिस कमिश्नर की ओर से जवानों से प्रदर्शन वापस लेने की मांग की गई है, लेकिन जवान हैं कि वापस हटने का नाम नहीं ले रहे हैं.

स्पेशल पुलिस कमिश्नर आरएस कृष्णा ने प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मियों से घर जाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि आपकी सभी मांगों पर विचार किया जा रहा है. इस घटना में जो भी पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, उनका इलाज दिल्ली पुलिस कराएगी. साथ ही घायलों को 25 हजार रुपए मुआवजा भी दिया जाएगा. पिछले 10 घंटे में 6 सीनियरों अफसरों की ओर से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की गई है.

अमित शाह से मिले गृह सचिव

बताया जा रहा है कि इस मामले को लेकर गृह सचिव अजय भल्ला गृह मंत्री अमित शाह से मिले हैं. उन्होंने पुलिस और वकीलों के बीच हुए हिंसक झड़प मामले की जानकारी अमित शाह को दी है. साथ ही दिल्ली पुलिस मुख्यालय पर चल रहे प्रदर्शन से भी अवगत कराया है. वहीं, हेडक्वॉर्टर पर प्रदर्शन कर रहा एक पुलिसकर्मी बेहोश हो गया है, जिसे अस्पताल पहुंचाया गया है.