गिरधर सिंह जाट व पुष्पेंद्र जोशी ने रक्तदान कर पीड़ितों की बचाई जान

0
90

करौली जिले की टीम पर्यावरण जीवनरक्षक के सदस्य चन्द्रदीप जैन और पुष्पेंद्र जोशी ने प्रेरित होकर अपने जीवनकाल का पहला तथा गिरधर सिंह जाट ने अपने जीवनकाल का दूसरा स्वेच्छिक B+ रक्त रक्तदान किया।
पीड़िता बच्ची मनीषा सैनी पुत्री पप्पु सैनी निवासी कैलादेबी करौली के शरीर रक्त मेहीमोग्लोबिन 2.2 ग्राम रह गया,बुखार के चलते 2.2 रक्त हीमोग्लोबिन को देख बच्ची को मातृ शिशु संस्थान में भर्ती कराया गया नाजुक हालत को देखते हुए डॉक्टर ने 2 यूनिट रक्त की तुरंत आवश्यकता बताई परिजनों में कोई रक्तदाता न के कारण परिजनों ने टीम जीवनरक्षक से संपर्क किया टीम के व्हाट्सप्प ग्रुप में रक्त की आवश्यकता को देख भाई नूतन गुप्ता ने स्थिति से अपने मित्र चंद्रदीप जैन को अवगत कराया बच्ची की स्थिति जान रक्तवीर भाई अपना सारा काम छोड़ अपने मित्र के साथ ब्लड बैंक पहुँचे जहाँ टीम सदस्य नूतन गुप्ता की मौजूदगी में अपने जीवनकाल का पहला स्वेच्छिक रक्तदान किया किन्तु बच्ची की हालत में सुधार न होने के कारण 1 यूनिट अतिरिक्त रक्त की आवश्यकता पड़ने पर टीम के युवा सदस्य गिरधर सिंह जाट सूचना मिलते ही ब्लड बैंक पहुँच कर टीम सदस्य विक्की कुमार,संतोष शर्मा और BK मीणा जी की उपस्थिति में जीवनकाल का दूसरा रक्तदान किया।

वही दूसरी ऒर एक 28 वर्षीय गर्भवती महिला हसन बाई निवासी कटकड मेड़ी के शरीर रक्त में हीमोग्लोबिन 6 ग्राम रह गया डिलेवरी समय में हीमोग्लोबिन के चलते माँ – बच्चे की जान को खतरे के चलते डॉक्टर ने 1 यूनिट तुंरत आवश्यकता बताई रक्त की आवश्यकता को देख टीम सदस्य संतोष भाई ने अपने छोटे भाई को स्तिथि से अवगत कराया तथा उनको लेकर ब्लड बैंक पहुँचे जहाँ 28 वर्षीय पुष्पेंद्र जोशी ने जीवनकाल का पहला रक्तदान किया माँ बच्चे के जीवन को बचाने का सफल प्रयास किया
ब्लड बैंक स्टाफ और टीम सदस्यों ने रक्तवीरो के हौसले के सरहना करते हुए धन्यवाद दिया