आरएलपी ने की निकाय चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा, बेनीवाल ने भविष्य के लिए जिंदा रखी उम्मीदें

0
53

राजस्थान में होने वाले निकाय चुनाव (Local Body Elections) में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) ने चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की है. नागौर सांसद और RLP के राष्ट्रीय संयोजक हनुमान बेनीवाल ने इस सम्बंध में ट्वीट करते हुए जानकारी दी है. हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि यदि कोई प्रत्याशी अच्छा होगा, तो पार्टी कार्यकर्ताओं से रायशुमारी के बाद उसको समर्थन देने पर विचार किया जाएगा.

HANUMAN BENIWAL

@hanumanbeniwal

1-वर्तमान में हो रहे निकाय चुनाव @RLPINDIAorg नही लड़ेगी मगर व्यक्तिशः कोई प्रत्याशी अच्छा होगा तो पार्टी कार्यकर्ताओं से रायशुमारी के बाद उसको समर्थन देने पर विचार करेगी ! @pantlp @prempratap04 @babulalsharma19 @amitvajpayee

165 people are talking about this

इसके बाद बेनीवाल ने एक अन्य ट्वीट करते हुए लिखा, कि राजस्थान ने वर्तमान में आरएलपी द्वारा निकाय चुनाव (Local Body Elections) के सम्बंध में लिया गया निर्णय पार्टी विधायकों की रायशुमारी के बाद लिया गया है. किसी प्रत्याशी के समर्थन आदि पर अंतिम निर्णय पार्टी स्तर से आधिकारिक बयान जारी करने पर ही माना जाएगा.

HANUMAN BENIWAL

@hanumanbeniwal

2-राजस्थान ने वर्तमान में @RLPINDIAorg द्वारा निकाय चुनाव के सम्बंध में लिया गया निर्णय पार्टी विधायको की रायशुमारी कर बाद लिया गया और समर्थन आदि पर अंतिम निर्णय पार्टी स्तर से आधिकारिक बयान जारी करने पर ही माना जायेगा !

67 people are talking about this

बता दें, खींवसर उपचुनाव में आये नतीजों के बाद आरएलपी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व मंत्री यूनुस खान पर उपचुनाव में अपने छोटे भाई और RLP प्रत्याशी नारायण बेनीवाल की खिलाफत करने और कांग्रेस के साथ मिलकर नारायण को हराने की साजिश रचने के गंभीर आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत भाजपा आलाकमान से की थी. बेनीवाल के आरोपों के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने बेनीवाल के बयान पर गहरी नाराजगी व्यक्त की थी. पुनिया ने बेनीवाल को मर्यादित भाषा के इस्तेमाल करने की नसीहत देते हुए यहां तक कह दिया था कि बेनीवाल अपनी पार्टी पर ध्यान दें तो बेहतर होगा. इस घटनाक्रम के एक दिन बाद ही सतीश पूनिया ने आगामी निकाय चुनावों (Local Body Elections) में हनुमान बेनीवाल की पार्टी RLP से गठबंधन नहीं करने की घोषणा की थी.