15 फीट का किंग कोबरा रात के अंधेरे में एक घर में घुसा

0
146

पटना. बिहार के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व इलाके के एक घर से 15 फीट का कोबरा सांप निकलने से अफरा-तफरी मच गई. खतरनाक और 15 फीट कोबरा के सांप निकलने से घर के लोगों में दहशत का माहौल बन गया. घर के अंदर रहने वाले परिवार के सदस्यों ने किसी तरह अपनी जान-बचाई. विषैले सांप के घर के अंदर घुस जाने की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई. काफी जद्दजहद के बाद सांप पर काबू पाया गया. सांप पर काबू पाने के लिए चार से पांच लोग घंटों तक मेहनत करते रहे.

आनन-फानन में स्नेक कैचर को बुलाया गया. सांप को काबू करने में वन विभाग के कर्मचारियों को काफी मेहनत करनी पड़ी. वाइल्ड लाइफ की एक्सपर्ट टीम ने काफी जद्दोजहद और कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार सांप को काबू किया. इस कोबरा सांप को रेस्क्यू करने के बाद फिर से वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में ही छोड़ दिया गया.

15 फीट कोबरा के निकलने से घर में दहशत

वाल्मीकि टाइगर रिजर्व वन प्रमंडल 2 के वाल्मीकि नगर क्षेत्र से सटे रिहायशी क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से लगतार मुसलाधार बारिश हो रही है. एक तरफ बारिश और दूसरी तरफ भीषण गर्मी से यह सांप निकल कर वाल्मीकि नगर सिंचाई विभाग के ई-टाइप कॉलोनी निवासी सत्यनारायण चौधरी के घर में घुस गया. 15 फीट लंबा किंग कोबरा सांप के घर में घुस जाने के बाद अफरा-तफरी का माहौला पैदा हो गया.

वन विभाग की टीम ने ऐसे किया रेस्क्यू

आनन-फानन में ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना वन क्षेत्र कार्यालय को दी गई. रेंजर महेश प्रसाद ने तत्काल वन कर्मियों की टीम को वनपाल प्रभाकर सिंह के नेतृत्व में घटनास्थल की तरफ रवाना किया. जहां वन कर्मियों ने वनपाल के नेतृत्व में घंटों की मशक्कत के बाद सांप रेस्क्यु किया. विषैले किंग कोबरा को सुरक्षित पकड़ने में सफलता प्राप्त कर ली गई.

READ More...  Rajasthan में कोरोना वायरस की समीक्षा, Rajasthan में एयरपोर्ट पर होगा थर्मल स्कैनर का इस्तेमाल!

बाद में वन कर्मियों ने किंग कोबरा को जटाशंकर वन क्षेत्र में सुरक्षित छोड़ दिया. इस बाबत पूछे जाने पर वाल्मीकि नगर रेंजर महेश प्रसाद ने बताया कि वन क्षेत्र से रिहायशी क्षेत्र सटे हुए हैं, इस कारण कभी कभार वन्य जीव रास्ता भटककर रिहायशी क्षेत्र में आ जाते हैं. ग्रामीणों से अपील है कि वे सतर्क और सजग रहें.