150 साल पुरानी मूर्ति चोरी में अब तक 6 आरोपी गिरफ्तार

0
20
ढली थाने में 11 सितंबर को मामला दर्ज हुआ था. तड़के करीब 3 बजे चोरी को अंजाम दिया गया था. हनुमान,राधा-कृष्ण,शिव-पार्वती की मूर्तियों के अलावा नंद गोपाल की चार प्राचीन मूर्तियां,एक शालीग्राम की 150 पुरानी अष्टधातु की मूर्ति,तांबे और पीतल की चौकी,5 तोले के चांदी का मुकुट और अन्य श्रंगार समेत कई आभूषण शामिल हैं.

हिमाचल के शिमला के ढली थाने के तहत कुफरी-चायल मार्ग के बीच स्थित मुंडाघाट में प्राचीन हनुमान मंदिर चोरी के मामले में शिमला पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने इस मामले में अब तक 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जांच के दौरान घटना स्थल का निरीक्षण डॉग स्वायड, BD स्कवॉड और फिंगर प्रिंट के विशेषज्ञों के द्वारा किया गया था. पुलिस ने आसपास के इलाकों के सारे सीसीटीवी फुटेज खंगाले और साथ ही इलाके में लगे मोबाइल टावर आईडी लेकर डम्प डाटा खंगाला गया और गुप्त सूचनाएं एकत्रित की गई. सभी रास्तों,सड़कों और अन्य स्थानों पर लगे सीसीटीवी से पता चला कई मंदिरों में इस तरह की वारदातों को अंजाम दिया गया है.

पेशेवर हैं चोर, चोरी करना आदत

जांच के दौरान पुलिस ने पता लगाया कि मंदिर चोरी और घरों में सेंध मारी करने वाले कौन आरोपी हैं, जिनपर पहले भी आरोप लगे हैं. इस कड़ी में 16 सितंबर को पुलिस के हाथ एक आरोपी लगा. सोलन जिले अर्की थाना क्षेत्र के तहत कालर गांव का 33 वर्षीय अभियुक्त कमलेश पुलिस की पकड़ में आया,उसे गिरफ्तार किया गया. कमलेश से पूछताछ की गई और सीसीटीवी फुटेज दिखाई गई. कमलेश की शिनाख्त पर एक और आरोपी पकड़ में आया. 17 सितंबर को सोलन जिले की कंडाघाट तहसील के बाजणी गांव से राजेंद्र ऊर्फ कालू राम को गिरफ्तार किया गया.

चोरों ने मूर्ति को काटा

कालू राम की निशानदेही पर नंद गोपाल की मूर्ति बरामद की गई. मूर्ति का एक पैर और एक हाथ कटा हुआ था. पुलिस ने कटे हुए पैर भी बरामद किए.इसके अलावा बाजणी गांव से ही एक आरोपी 29 वर्षीय अशोक पकड़ा गया. शिमला जिले की सुन्नी तहसील के गडयाण गांव का 20 वर्षीय ऋतिक भी पुलिस की पकड़ में आया. पुलिस ने बताया कि आरोपी अशोक की निशानदेही पर हनुमान की मूर्ति भी बरामद की गई लेकिन मूर्ति के दोनों हाथ और पूंछ कटी हुई पाई गई. पुलिस की कड़ी पूछताछ में आरोपी अशोक,कमलेश,कालू और ऋतिक ने एक एक करके सारे राज उगले.

READ More...  करौली पुजारी हत्याकांड में हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को जारी किए नोटिस, मांगा जवाब

सुनार के बेचा चोरी का सामान

उनसे पूछताछ में पता चला कि चोरी किया हुआ सामान सुनार को बेचा गया था. उसके बाद पुलिस ने सोलन जिले के कैन्ट बोर्ड धर्मपुर सबाथु से 60 वर्षीय गणेश सुनार और 40 वर्षीय सुनार गोपाल को गिरफ्तार किया. इन दोनों से चार चांदी के छत्र, सोने की अंगुठी,सोना डली नुमा,चौकी चांदी, हनुमान,लक्ष्मी और गणेश की मूर्तियां बरामद की गई. मूर्तियों और अन्य सामान की शिनाख्त मंदिर के पुजारी और मंदिर कमेटी के सदस्यों ने की.

ये बोले एसपी

एसपी मोहित चावला ने कहा कि इस मामले में अब तक करीब 85 फीसदी चोरी हुई संपत्ति बरामद की गई है. चोरी की गई कुछ मूर्तियां,सोने-चांदी के जेवरात,छत्र ,मूर्तियों के कटे हुए भाग बरामद होना बाकी है,जिसके लिए प्रयास जारी हैं. एसपी ने बताया कि सभी आरोपी 24 सितंबर तक पुलिस रिमांड पर हैं. एसपी ने ये भी बताया कि अशोक,कमलेश और कालू चोरी के मुख्य सरगना हैं.

चोरों पर दर्ज हैं कई मामले

इस चोरी के अतिरिक्त कालू पर पूर्व में चोरी के 13 मामले,अशोक पर 8 मुकदमें और कमलेश पर 12 मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं. कमलेश पर मंदिर चोरी के 5 मामले दर्ज हैं.

ये है पूरा मामला

ढली थाने में 11 सितंबर को मामला दर्ज हुआ था. तड़के करीब 3 बजे चोरी को अंजाम दिया गया था. हनुमान,राधा-कृष्ण,शिव-पार्वती की मूर्तियों के अलावा नंद गोपाल की चार प्राचीन मूर्तियां,एक शालीग्राम की 150 पुरानी अष्टधातु की मूर्ति,तांबे और पीतल की चौकी,5 तोले के चांदी का मुकुट और अन्य श्रंगार समेत कई आभूषण शामिल हैं. आरोपियों के पकड़ने में पुलिस की टीम ने कड़ी मेहनत की,इस मामले में एएसपी प्रवीर ठाकुर की अध्यक्षता में जांच टीम का गठन किया गया है.

मंदिरों में बढ़ेगी सुरक्षा

अब पुलिस की टीम जिले के सभी थाना क्षेत्र में आने वाले सभी छोटे-बड़े मंदिरों का दौरा करेगी. मंदिर कमेटी के साथ बैठकर योजना तैयार की जाएगी. सुरक्षा के लिए जरूरी उपकरणों जैसे सीसीटीवी,डबल लॉक और बॉउंड्री वॉल से लेकर अन्य सभी तरह इंतजाम पुख्ता किए जाएंगे. इस बाबत एसपी मोहित चावला ने कहा कि यह मुहिम शुरू कर दी गई है. शिमला पुलिस मंदिरों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी.