19 सितंबर को भरे जायेंगे पर्चे, कोरोना के चलते चुनाव आयोग ने मतदान का समय 1 घंटा बढ़ाया

0
25

प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुये राज्य चुनाव आयोग ने इस बार पंचायत चुनाव के लिये होने वाले मतदान के समय में 1 घंटे की बढ़ोतरी की है. चुनाव आयोग का मानना है कि इससे मतदान केन्द्रों पर भीड़ एकत्र नहीं होगी और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जा सकेगी. कोरोना काल में हो रहे पंचायत चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने ऐहतियात के और भी कई कदम उठाये हैं.

मतदान केन्द्र पर मतदाताओं की संख्या भी घटाई
इन कदमों के तहत चुनाव आयोग ने मतदान का समय एक घंटा बढाकर प्रातः 7.30 से शाम 5.30 तक रखा है ताकि एक साथ अधिक मतदाता एकत्रित न हो और सभी अपने मतदान के अधिकार का प्रयोग कर सकें. वहीं 3848 पंचायतों में चुनाव के लिए गठित मतदान केन्द्र पर मतदाताओं की संख्या भी 1100 से घटाकर 900 कर गई दी है ताकि सोशल डिस्टेसिंग की पालना हो सके. नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत करने एवं संवीक्षा के समय में 30 मिनिट की बढ़ोतरी की गई है. आयोग ने इसके अलावा पंच-सरपंच का चुनाव लड़ने के इच्छुक कोविड-19 पॉजिटिव लोगों के लिये भी नई गाइड लाइन जारी की है. इस गाइडलाइन के अनुसार रिटर्निंग अधिकारी पीपीई किट पहनकर अलग कमरे में उनके नामांकन-पत्र स्वीकार करेगा. इस प्रक्रिया में जो भी खर्चा आएगा वह प्रत्याशी को वहन करना होगा.

19 सितंबर को सुबह 10 से 5 बजे तक नामांकन-पत्र दाखिल किए जा सकेंगे

पंचायत चुनाव के प्रथम चरण के लिये लोक सूचना जारी होने के साथ ही चुनाव प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. प्रथम चरण के लिये 19 सितंबर को सुबह 10 से 5 बजे तक नामांकन-पत्र दाखिल किए जा सकेंगे. 20 सितंबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी. इसी दिन 3 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. उसके बाद चुनाव चिन्हों का आवंटन किया जायेगा. 20 सितंबर को ही अभ्यर्थियों की सूची का प्रकाशन होगा. 27 सितंबर तक मतदान दल निर्वाचन स्थल पर पहुंचेंगे. 28 सितंबर को मतदान होगा. मतदान का समय प्रातः 7.30 से सायं 5.30 बजे तक रहेगा. मतदान समाप्ति के बाद सभी पंचायत मुख्यालयों पर ही मतगणना होगी और परिणाम घोषित कर दिये जायेंगे. 29 सितंबर को उपसरपंच का चुनाव होगा. इस चरण में 1003 पंचायतों के लिए चुनाव होंगे. इनमें 1003 सरपंचों के साथ ही 9355 वार्ड पंच चुने जायेंगे.
READ More...  4 बजे से टिकट बुकिंग, मास्क-सैनिटाइजर और 2 घंटे पहले स्क्रीनिंग, ट्रेनों में सफर से पहले जान लें नए नियम