आंदोलन के समय युवाओं पर लगे मुकदमे वापस ले सरकार, एससी एसटी युवाओं ने सौंपा ज्ञापन

0
150

करौली जिला मुख्यालय पर सोमवार को समस्त एससी-एसटी युवा संघ द्वारा अतिरिक्त जिला कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया
ज्ञापन में बताया गया कि 2 अप्रैल 2018 को एससी एसटी के देशव्यापी आंदोलन के दौरान पूर्व की भाजपा सरकार द्वारा राजस्थान में कुछ युवाओं पर झूठे मुकदमे लगाए गए थे जिनको वर्तमान सरकार वापस ले। 2 अप्रैल 2018 को भारत बंद किया गया जिसमें राज्य के कई जिलों में शांतिपूर्ण आंदोलन रैलियों के दौरान कई स्थानों पर अन्य सामाजिक संगठनों व असामाजिक तत्वों द्वारा व्यवधान उत्पन्न किए गए एवं आंदोलन को असफल करने का प्रयास किया गया तथा 2 अप्रैल को एससी एसटी के निर्दोष लोगों पर झूठे मुकदमे लगाए गए और उनको बेवजह फंसाया गया जिसको लेकर मुख्यमंत्री से अनुरोध किया गया कि इन मुकदमों को बापस लेकर निर्दोष लोगों को बरी किया जाए।
इस मौके पर नरेंद्र चौधरी, सुरेंद्र गढ़ी, राजेंद्र मनेमा, गजानंद भास्कर, करण लेहकोडिया, हितेश चौधरी, सुमेर सिंह, पुष्पेंद्र, अनिल कल्याणी, राहुल, सोनू, सचिन आदि अनेकों लोग उपस्थित थे।

READ More...  Childrens Day: गहलोत सरकार का बच्चों के लिए स्पेशल गिफ्ट, मुफ्त फिल्म तथा मेट्रो का सफर