परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की बड़ी कार्रवाई के बाद सीएम अशोक गहलोत ने मंगलवार को चुप्पी तोड़ी.

0
359

जयपुर: परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की बड़ी कार्रवाई के बाद सीएम अशोक गहलोत ने मंगलवार को चुप्पी तोड़ी. गहलोत ने इशारों ही इशारों में भ्रष्ट नौकरशाहों को सीधा संदेश दिया कि उनकी सरकार पारदर्शी, संवदेनशील और जवाबदेही प्रशासन का वादा कर सत्ता में आई है. इसे लेकर कहीं भी कोताही हुई तो सरकार कोई रियायत नहीं बरतेगी.

सीएम के बयान को सीधे एसीबी की कार्रवाई से जोड़कर देखा जा रहा है
राजधानी जयपुर में मंगलवार को पीसीसी में गहलोत ने कहा जो अधिकारी कर्मचारी जनता के काम में कोताही बरतेगा उस पर हमारी निगाह है. गहलोत के इस बयान को सीधे एसीबी की कार्रवाई से जोड़कर देखा जा रहा है. गहलोत के पास गृह मंत्रालय भी और भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी जीरो टोलरेंस की नीति रही है. दो दिन पहले रविवार को एसीबी की बड़ी कार्रवाई के बाद मंगलवार को मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने भ्रष्ट और लापरवाह ब्यूरोक्रेसी को सीधे शब्दों में चेतावनी दे दी कि उनकी सरकार जनहितैषी है. जन आकांक्षाओं को पूरा करना ही उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है.

सबको मिलकर प्रयास करने होंगे

सीएम गहलोत ने कहा, “मेरे अकेले के प्रयास से जनता के काम नहीं हो पाएंगे. इसके लिए मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ विधायकों और ब्यूरोक्रेसी को भी मेहनत करनी होगी, तभी हम संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह प्रशासन दे सकते हैं. जनता की सुनवाई हमारी सरकार में सर्वोपरि है. हम सरकार की योजनाओं और सर्विस डिलीवरी को बेहतर बनाने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं. जनता ने हमें बड़ी जिम्मेदारी सौंपी हैं, उस पर हमें खरा उतरना है.”

READ More...  दहेज के खिलाफ, मिलेगा तत्व ज्ञान से इंसाफ़

सीएम ने केंद्र सरकार पर लगाया यह आरोप
इस मौके पर सीएम अशोक गहलोत ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कहा कि केंद्र सरकार देश में खतरनाक हालात बना रही है. सत्ता पक्ष के लोग गृहयुद्ध के हालात बना रहे हैं. संविधान पर खुलेआम चोट की जा रही है. नौजवानों को उकसाया जा रहा है. यूपी के सीएम गोली मारने तक की बात कर रहे हैं. गहलोत ने कहा कि ये अत्यन्त दुखद बात है