जयपुर में आज शांति मार्च, CM अशोक गहलोत ने की शांति बनाए रखने की अपील

0
193

जयपुर. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर रविवार को प्रदेश की राजधानी जयपुर (Jaipur) में शांति मार्च (Peace march) निकाला जाएगा. इसकी अगुवाई सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) करेंगे. सीएम ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील (Appeal) की है. सीएम ने लोगों से हिंसा और अफवाहों से बचने की नसीहत दी, वहीं हिंसा करने वालों को चेताया (warning) भी. उन्होंने कहा कि शांति मार्च के जरिए जयपुर से पूरे प्रदेश को शांति का संदेश (Message of peace) जाना चाहिए.

विरोध करना लोकतांत्रिक अधिकार है
प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने कहा कि सिर्फ अमेरिका की नहीं पूरे विश्व की निगाहें भारत पर लगी हुई हैं कि गांधी के मुल्क में ऐसे हालात कैसे बने? उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार से आग्रह है कि स्थिति को समझें. इस कानून को वापस लिया जाना चाहिए. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि विरोध करना लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन हिंसा करने वालों के खिलाफ कानून अपना काम करेगा. कोई रियायत नहीं बरती जाएगी.
सिविल सोसायटीज के प्रतिनिधि भी होंगे शामिल

दरअसल सीएम गहलोत इस शांति मार्च के जरिए देशभर को संदेश देना चाहते हैं कि लोकतंत्र में विरोध करना सभी का संवैधानिक अधिकार है. लेकिन इसे शांतिपूर्ण ढंग से भी किया जा सकता है और जिम्मेदारों तक अपनी आवाज भी पहुंचाई जा सकती है. शांति मार्च रामनिवास बाग स्थित अल्बर्ट हॉल से शुरू होकर गांधी सर्किल तक जाएगा. इसमें विभिन्न संगठन, सामाजिक कार्यकर्ता और सिविल सोसायटीज के प्रतिनिधि शामिल होंगे.

READ More...  24 घंटे में कोरोना के 3525 नए केस और 122 मरीजों की मौत, कुल आंकड़ा 75 हजार के करीब

सीएम ने लिया तैयारियों का जायजा
इस शांति मार्च का मकसद शांतिपूर्ण तरीके से संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल करना होगा. सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को पहले सिविल सोसायटीज के प्रतिनिधियों के साथ शांति मार्च को लेकर चर्चा की. बाद में उन्होंने अल्बर्ट हॉल और गांधी सर्किल पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया.