अजमेर पंचायत चुनाव: वोटिंग से पहले हुआ वाल्मीकि समाज के लोगों का साफा सम्मान,

0
190

मनवीर, अजमेर: राजस्थान में पंचायत चुनाव का तीसरा चरण आज जारी है. यहां तीसरे चरण के मतदान के दौरान कई रोचक नजारे सामने आ रहे हैं. अजमेर की सिलोरा ग्राम पंचायत में आज वाल्मीकि समाज के मतदाताओं को बाकायदा माला और साफा पहनाकर मतदान केंद्रों पर लाया गया.

इसके बाद वाल्मीकि समाज के मतदाताओं को ही सबसे पहले मताधिकार का इस्तेमाल करवाया गया. ग्रामीणों के अनुसार वाल्मीकि समाज को यह सम्मान दिया जा रहा है और यह इस गांव की एक अघोषित परंपरा सी बन गई है कि मतदान की शुरुआत वाल्मीकि समाज के किसी व्यक्ति के मतदान से ही करवाई जाती है.

इसके पीछे की सोच यही है कि समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े होने वाले वाल्मीकि समाज को लोकतंत्र के महायज्ञ में अग्रिम पंक्ति में खड़ा करके सामाजिक समरसता का संदेश दिया जाए.

दरअसल, पंचायती राज चुनाव-2020 में पंच-सरपंच के लिए तीसरे चरण का मतदान आज यानी की 29 जनवरी को सुबह 8 से शाम 5 बजे से शुरू हो चुका है. राज्य निर्वाचन आयोग स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

तीसरे चरण में 49 पंचायत समितियों की 1700 ग्राम पंचायतों के 17,516 वार्डों में मतदान होगा. 60 लाख 23 हजार 485 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें से 31 लाख 33 हजार 97 पुरुष और 28 लाख 90 हजार 362 महिलाएं और 26 अन्य मतदाता शामिल हैं. सरपंच पदों के लिए मतगणना बुधवार को ही करवाई जाएगी. उप सरपंच के लिए चुनाव 30 जनवरी को करवाया जाएगा.

सरपंच के लिए 10 हजार 865 उम्मीदवार मैदान में
मेहरा ने बताया कि तीसरे चरण में 49 पंचायत समितियों की 1700 ग्राम पंचायतों में सरपंच पदों के लिए 17 हजार 620 उम्मीदवारों ने 17 हजार 713 नामांकन पत्र दाखिल किए. जांच के बाद इनमें से 16 हजार 910 नामांकन सही पाए गए. नाम वापसी की तिथि तक 6 हजार 28 उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस ले लिए. प्रदेश के 24 जिलों में 17 सरपंच निर्विरोध चुन लिए गए हैं. इस तरह तृतीय चरण में सरपंच पद के लिए कुल 10 हजार 865 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाएंगे.

READ More...  15वीं विधानसभा का 5वां सत्र, दूसरी बैठक आज, कोरोना पर होगी चर्चा, 7 विधेयक होंगे पारित