BSP विधायक के खिलाफ दर्ज हुई छेड़खानी की FIR, पीड़िता बोलीं- कंप्रोमाइज के लिए बनाया जाता था दबाव

0
208

लखनऊ: आजमगढ़ की मुबारकपुर सीट से बहुजन समाज पार्टी के विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली पर उनके ऑफिस की एक महिला कर्मचारी ने छेड़छाड़ और धमकाने को लेकर गोमती नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. बसपा विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली बसपा सुप्रीमो मायावती के करीबी और उनके भाई आनंद के बिजनेस पार्टनर भी हैं. एफआईआर के मुताबिक, गुड्डू जमाली महिला कर्मचारी से तरक्की के लिए कंप्रोमाइज करने को कहते थे. महिला कर्मचारी को अक्सर वीडियो कॉल और व्हाट्सएप मैसेज भेजा करते थे. विधायक ने एक शाम पीड़िता को घर बुलाया और जबरिया हाथ पकड़कर छेड़छाड़ की.

महिला कर्मचारी ने विरोध किया तो गुड्डू जमाली ने कहा कि वह उनकी लॉयल्टी चेक कर रहा था.
इसके बाद से ही महिला कर्मचारी ने विधायक गुड्डू जमाली पर नजर रखना शुरू कर दिया. बता दें कि 15 हज़ार की तनख्वाह पाने वाली एक लड़की एक दिन विधायक के घर गई और अगले महीने से ही उसकी तनख्वाह 21 हज़ार हो गई. शिकायत करने वाली महिला कर्मचारी ने कुछ पूर्व महिला कर्मचारियों से भी इस बाबत पूछताछ की तो गुड्डू जमाली के बारे में चौंकाने वाले खुलासे हुए.

एफआईआर के मुताबिक, पूर्वांचल प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम की रियल एस्टेट कंपनी के मालिक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली फ्लैटों की खरीद-फरोख्त में भी टैक्स चोरी करके सरकार को चूना लगा रहे हैं. एफआईआर में कंपनी के एजीएम अक्षित कपूर और एचआर मैनेजर सुमिता का भी नाम है. पीड़िता के मुताबिक, ये दोनों भी गुड्डू जमाली को उसके गलत कामों में सहयोग करते थे.

READ More...  राजस्थान पंचायत चुनाव: झुंझुनूं में है प्रदेश की सबसे हॉट सीट, यहां हैं एक वार्ड में 5 मतदाता और 2 प्रत्याशी

महिला ने पीड़िता पर आलम की बात मानने का दबाव बनाया. जब उसने मना कर दिया तो आलम ने उसे धमकियां देनी शुरू कर दीं. बाद में युवती ने पहले पुलिस को मौखिक शिकायत की, इसके बाद 13 जनवरी को लिखित में शिकायत दर्ज करवा दी. जिसके बाद आलम ने 14 जनवरी को उसे नौकरी से निकलवा दिया. पीड़ित की शिकायत पर गोमतीनगर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.