Budget 2020: शिक्षा का बजट हुआ 99,300 करोड़, 6 बिंदुओं पर समझें स्टूडेंट्स को क्या होगा फायदा

0
226

नई दिल्ली: मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया. इस साल शिक्षा क्षेत्र के बढ़ावा देने के लिए उन्होंने कई बड़े ऐलान किए, जिसमें उच्च शिक्षण संस्थान, मेडिकल कॉलेज (Medical college) ऑनलाइन कोर्स और इंटर्नशिप (Internship) पर जोर दिया. आइए जानते कि वित्त मंत्री ने शिक्षा को लेकर क्या बड़ी घोषणाएं कीं.
1.वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए शिक्षा क्षेत्र के लिए वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 99300 करोड़ रुपये की घोषणा की. यह राशि पिछले बीते वित्त वर्ष 2019-20 से करीब पांच करोड़ रुपये अध‍कि है. बीते वित्त वर्ष 2019-20 में शिक्षा के क्षेत्र को 94,853.64 करोड़ रुपये दिए गए थे.

2. बजट में मार्च 2021 तक देश भर में 150 उच्च शिक्षण संस्थान खोलने की घोषणा की गई है. इन संस्थानों में स्किल्ड प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिससे युवा रोजगार के लिए तैयार हो सकें. बजट भाषण में वित्त मंत्री ने कहा कि क्वालिटी एजुकेशन के लिए डिग्री लेवल ऑनलाइन स्कीम शुरू होगी.

3. वित्तमंत्री ने अपने भाषण में एक अलग तरह के विश्वविद्यालय को खोलने की घोषणा की वित्त मंत्री में देश में पहली नेशनल यूनिवर्सिटी खोलने की घोषणा की. इसके साथ ही देश में नेशनल फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी खोलने की घोषणा की.

4. वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में देश में शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए ऑनलाइन डिग्री कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है. इससे शिक्षा के क्षेत्र में बड़े और अहम बदलाव आएंगे.

5. वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार 150 उच्च शिक्षा संस्थानों के साथ अप्रेंटिस के संस्थान शुरू करेगी. साथ ही सरकार एक प्रोग्राम शुरू करेगी जिसमें शहरी निकाय नए इंजीनियरों को एक साल के लिए इंटर्नशिप देगी ताकि इंटर्न भी सीख सकें और शहरी निकायों को भी कामकाज में मदद मिल सके.

READ More...  मुंबई के डांस ग्रुप ने अमेरिका में किआ भारत का नाम रोशन, मचाया तहलका, जीता America's Got Talent 2

6. वित्त मंत्री ने कहा कि अब हर जिले की जिला अस्पतालों में मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना है. इसके तहत लोगों को बेहतर इलाज मिलेगा साथ ही युवा डॉक्टर ट्रेनिंग करेंगे.