बजट 2020 को लेकर सचिन पायलट का बड़ा बयान,पायलट ने कहा कि हमने सभी जनप्रतिनिधियों को निर्देशित किया है और कहा कि जो स्कीम हमने बना रखी है, उसका क्रियान्वयन तरीके से हो

0
198

जयपुर: सचिवालय में राज्यस्तरीय डांग, मगरा, मेवात, क्षेत्रीय विकास योजना मंडल की बैठक उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की अध्यक्षता में आयोजित हुई. उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट कहा कि जो तीन महत्वपूर्ण योजना है. ग्रामीण विकास मंत्रालय की मगरा, डांग, और मेवात इन क्षेत्रों के लिए अलग अलग स्कीम बनी है, अलग-अलग धनराशि आवंटित की है.

आगे पायलट ने कहा कि हमने सभी जनप्रतिनिधियों को निर्देशित किया है और कहा कि जो स्कीम हमने बना रखी है, उसका क्रियान्वयन तरीके से हो. इसके साथ ही विभागों को तेजी से कार्य करने के लिए निर्देश दिया है.

पंचायत चुनाव को लेकर पायलट ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है. अब  कोई विवाद की बात नहीं है. माननीय हाईकोर्ट जो भी निर्णय करेगा वह सब को मान्य हैं. हम तो चाहते हैं कि सही प्रणाली के तहत चुनाव हो इससे हमारी जिला परिषद की पंचायत समिति की सरकार जल्दी स्थापित हो, हमारी सरकार का शुरू से यही मत रहा है.

वित्तीय प्रबंधन बहुत बुरा है
बीएसएनएल को लेकर कहा कि एलआईसी हो, बीएसएनएल हो, पिछले 6 साल में जिन कंपनियों को नवरत्न बोला जाता था या जिन्होंने दुनिया में ख्याति पा ली थी, उनको बेचा जा रहा है. जब बीजेपी विपक्ष में थी सभी बोलते थे कि कंपनियों को बेची नही, जानी चाहिए. आज ऐसी कोई कंपनी नहीं है, जिसको प्राइवेट ट्रेड करने में यह पीछे हैं.

आगे पायलट ने कहा कि वित्तीय प्रबंधन बहुत बुरा है. जो बजट आया है, इतना लंबा बजट भाषण उस बजट भाषण में कन्फ्यूजन पैदा हो गया. दो तरह के इनकम टैक्स बन गए. निवेश होगा नहीं, रोजगार के बारे में कोई आंकड़े नहीं दिए गए. पहली बार हुआ है कि बजट के बाद शेयर मार्केट पूरी तरह क्रैश हो गया.

READ More...  जोधपुर से अमित शाह की विपक्ष को चुनौती, CAA पर एक इंच पीछे नहीं हटेंगे, पढ़ें- भाषण की 10 बातें

दिल्ली में बेहतर है कांग्रेस
दिल्ली चुनाव पर पायलट ने कहा कि मुझे लगता है कि दिल्ली में हमारी स्थिति बेहतर है. त्रिकोणीय मुकाबला होगा जो वर्तमान सरकार है, उसने खाली अखबार छपवाए हैं. बहुत सारे वादे किए थे. वाईफाई, सीसीटीवी, बिजली, पानी के नाम पर लोगों को भ्रमित जरूर कर रहे हैं. अच्छा कैंपेन चल रहा है. राजस्थान से बहुत से लोग गए हैं. मैं भी लगतार मीटिंग लगातार कर रहा हूं. मुझे लगता है पिछली बार जो परिणाम आये थे, वो बहुत अच्छे नहीं थे लेकिन इस बार कांग्रेस पार्टी के पक्ष में अच्छे परिणाम आएंगे.