CAB: पूर्वोत्तर में हिंसक प्रदर्शन, पैसेंजर ट्रेन-उड़ानें रद्द, रेलवे स्टेशन पर हमला

0
208

नागरिकता संशोधन बिल संसद के दोनों सदनों से पास हो गया है लेकिन इसके विरोध में पूर्वोत्तर में भारी विरोध चल रहा है. असम में छात्र संगठन सड़कों पर उतर गए हैं, तो वहीं कई फ्लाइट भी रद्द हो गई हैं. सिर्फ असम ही नहीं बल्कि अरुणाचल प्रदेश, मेघालय समेत अन्य राज्यों में भी विरोध तेज होता जा रहा है. आज शाम को मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे. पूर्वोत्तर में अभी तक कहां-कहां कैसा विरोध हो रहा है, एक नज़र डालें..

1.    पूर्वोत्तर में नागरिकता बिल के खिलाफ प्रदर्शन के बीच कई फ्लाइट पर असर पड़ा है. गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ जाने वाली उड़ानों को रद्द कर दिया है. इंडिगो ने गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट की फ्लाइट रद्द कर दी हैं. डिब्रूगढ़ एयरपोर्ट पर अभी 5 जाने वाली और 7 आने वाली उड़ान रद्द हुई हैं. इंडिगो के अलावा स्पाइसजेट, विस्तारा की उड़ानें भी रद्द हुई हैं.

2. नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ बढ़ते प्रदर्शन की वजह से असम, त्रिपुरा जाने वाली सभी पैसेंजर ट्रेन को रद्द कर दिया गया है. अभी दिल्ली और कोलकाता से जाने वाली ट्रेन गुवाहाटी तक ही जा रही हैं, उसके आगे की सुविधा बंद कर दी गई है.

3.    असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, बीजेपी विधायक प्रशांत फूकान के घर या काफिले पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया और नागरिकता बिल के खिलाफ नारेबाजी भी की. इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने डिब्रूगढ़ में RSS दफ्तर पर हमला किया और वहां आग लगा दी. इसमें 4 मोटर साइकिल और कुछ अन्य चीजों को नुकसान हुआ.

READ More...  आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्‍तान को अब टिड्डियों ने किया परेशान, इमरान ने किया इमरजेंसी का ऐलान

4.    असम के छाबुआ, पानितोला रेलवे स्टेशन पर बुधवार को प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की, इस दौरान वहां खड़े वाहनों पर भी तोड़फोड़ की गई. असम में राज्य की 20 बसों को भी नुकसान पहुंचाया गया.

5.    तिनसुकिया में प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की, ट्रैफिक बूथ के साथ आगजनी भी की. तिनसुकिया में ही भाजपा के एक अस्थाई दफ्तर को नुकसान पहुंचाया गया.

6. तिनसुकिया में चार दुकानों को आग लगा दी गई है. गुरुवार सुबह यहां एक शव भी बरामद हुआ है. असम में लगातार विरोध प्रदर्शन बढ़ता जा रहा है.

1_121219102519.jpg

7.    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गुरुवार को ट्वीट कर असम के नागरिकों से अपील की. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि नागरिकता संशोधन बिल के पास होने से असम के लोगों का हक नहीं छीनेगा. इससे ना तो असम के हकों, अस्मिता छिनेगा और ना ही अधिकार छीनेगा.

8.    असम के अलावा अरुणाचल प्रदेश, मेघालय में भी छात्र संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं. गुरुवार को ही मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा अमित शाह से मिलेंगे.

9.    नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ कई संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. मुस्लिम लीग के अलावा ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन ने भी इसको लेकर SC का रुख करेंगे.