CBI और मेडिकल बोर्ड की होगी बैठक,सुशांत सिंह राजपूत की मौत का सच कल होगा उजागर

0
88
इस मामले में 20 सितंबर को ही मेडिकल बोर्ड और सीबीआई की बैठक होने वाली थी, लेकिन किन्‍हीं कारणों से बैठक को टाल दिया गया

फिल्म स्टार सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत से जुडे़ मामले की जांच रिपोर्ट के मसले पर मंगलवार को एक महत्वपूर्ण बैठक होने वाली है. इस बैठक में सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत मामले की जांच करने वाली एसआईटी के जांचकर्ता और मेडिकल बोर्ड के अधिकारी शामिल होंगे. मेडिकल बोर्ड की तरफ से दिल्‍ली स्थित एम्स अस्पताल में फॉरेंसिक जांच विभाग के प्रमुख डॉ. सुधीर गुप्ता इस टीम को लीड करेंगे.

वहीं सीबीआई की टीम से एसआईटी की रिपोर्ट और सीबीआई की सीएफएसएल यानी सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरीज़ की फाइंडिंग और सीबीआई की एसआईटी द्वारा इस मामले में अब तक हुई जांच की रिपोर्ट को देखा जाएगा. उसके बाद इस मामले में गठित मेडिकल बोर्ड को सारी जानकारियों से अवगत कराया जाएगा. बाद में मेडिकल बोर्ड उस मामले की गंभीरता को देखते हुए एक फाइनल ओपीनियन सीबीआई को देगा.

हालांकि इस मामले में 20 सितंबर को ही मेडिकल बोर्ड और सीबीआई की बैठक होने वाली थी, लेकिन किन्‍हीं कारणों से बैठक को टाल दिया गया और दो दिनों के बाद का वक्त तय किया गया. अभी तक इस मसले पर कोई औपचारिक तौर पर पुष्टी नहीं की गई है कि बैठक सीबीआई मुख्यालय में होगी या सीबीआई की टीम एम्स अस्पताल स्थित डॉ. सुधीर गुप्ता के दफ्तर में जाएगी . सीबीआई सूत्रों की अगर मानें तो ये बैठक सीबीआई मुख्यालय में ही किए जाने की संभावना है.

बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा संभव
सुशांत सिंह की संदिग्ध मौत से जुड़े मामले में देश को सीबीआई की जांच रिपोर्ट और मेडिकल जांच बोर्ड कि अंतिम रिपोर्ट का इंतजार है. क्योंकि सभी को ये पता है कि सीबीआई की जो भी रिपोर्ट होगी वो बेहद सटीक होगी, क्योंकि स्पेशल क्राइम के मामलों की तफ्तीश के बाद दर्जनों बार सीबीआई की टीम एक बेहतर तफ्तीश रिपोर्ट को जांच के दौरान सामने लाकर लोगों को चौंकने के लिए मजबूर कर चुकी है. इस मामले में भी यही कयास लगाया जा रहा है कि सीबीआई सच से पर्दा उठाते हुए इस मामले की वास्तिवकता से रूबरू करवा सकती है.

READ More...  मध्य प्रदेश: दो सीटों पर बीजेपी का कब्जा, कांग्रेस से जीते दिग्विजय सिंह

सीबीआई की सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरीज़ में सुशांत सिंह की मौत के बाद मुंबई पुलिस के द्वारा संरक्षित किए गए विसरा नमूने को जांचा गया था. इसके साथ ही दिल्ली के सीजीओ कॉम्पलेक्स स्थित सीएफएसएल लैब में विसरा, जिसमें अंतर्गत प्रमुख तौर पर अग्नाशय , आंत सहित जिगर और शरीर के कुछ अन्य आंतरिक अंगों के हिस्से को एक नमूने के तौर पर कई बोतलों में संरक्षित करती है, उसके बाद ही उन विसेरा नमूनों को विषाक्तता या नशा से मुक्त संबंधित जांच के मसलों के लिए फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में परीक्षण के लिए मुंबई स्थित लैब में जांचा गया, उसके बाद अब सीबीआई की लैब उस नमूनों से संबंधित जांच कर रही है.

सीबीआई की अब तक तफ्तीश के बाद जो भी फोरेंसिक नमूनों को इकट्ठा किया गया और उस फोरेंसिक नमूनों को जांच के लिए सीबीआई की सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरीज़ में भेजा गया था, उससे संबंधित कई रिपोर्ट सीबीआई के जांचकर्ताओं के पास आ चुकी हैं. लेकिन कुछ और महत्वपूर्ण रिपोर्ट के आने का इंतजार किया जा रहा है , जिसे 22 सितंबर को मेडिकल बोर्ड के सामने भी साझा किया जाएगा. उसके बाद दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल के विशेषज्ञ द्वारा जो रिपोर्ट आने की उम्मीद है वो एकदम कन्क्लूजन यानी फाइनल और निश्चित फाइंडिंग रिपोर्ट हो सकती है. उस रिपोर्ट में कोई कंफ्यूजन अर्थात दुविधा वाली बातें नहीं होगी . यानी सुशांत सिंह की संदिग्ध मौत से जल्द ही पर्दा उठ सकता है.