महाराष्ट्र में सबसे बड़ा राजनीतिक उलटफेर: देवेंद्र फडणवीस ने फिर ली CM पद की शपथ, अजित डिप्टी CM

0
155

Mumbai: Devendra Fadnavis takes oath as Maharashtra Chief Minister again, oath administered by Governor Bhagat Singh Koshyari at Raj Bhawan.

Embedded video
महाराष्ट्र को स्थिर सरकार चाहिए, खिचड़ी नहीं
शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीसने कहा कि हमें सरकार बनाने का जनादेश मिला था लेकिन शिवसेना ने दूसरी पार्टियों के साथ गठबंधन का प्रयास किया. जिसका परिणाम यह निकला कि सूबे में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया. महाराष्ट्र की जनता को स्थिर सरकार चाहिए न कि कोई खिचड़ी. शिवसेना से जनादेश का सीधे तौर पर अपमान किया है. इस दौरान उन्होंने अजित पवार का अभार जताया, कहा- मैं अभारी हूं कि वे मेरे साथ आए. अब हम महाराष्ट्र में एक स्थिर सरकार देंगे.
किसानों के लिए सरकार में आए
वहीं शपथ लेने के बाद अजीत पवार ने कहा ‌कि हम लोगों की समस्या के लिए साथ आए हैं. हम किसानों की समस्या को खत्म करना चाहते हैं. उनकी भलाई के लिए ही सरकार में आए हैं. उन्होंने कहा कि लोगों ने जिसे सरकार बनाने के लिए चुना था उन्हीं को सरकार बनानी भी चाहिए.
पहले से चल रही थी बात
इस दौरान बीजेपी के विधायक रामचरण ने बताया कि रातों रात कोई बात नहीं हुई है. वरिष्ठ नेताओं की बातचीत पहले से चल रही थी. हम सभी जनता और खासकर किसानों की भलाई के लिए सामने आए हैं. बीजेपी और एनसीपी ने साथ में सरकार बनाई है. हम लोग इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि महाराष्ट्र में एक स्थिर सरकार अब लोगों को मिल गई है.
प्रधानमंत्री ने दी बधाई
फिर एक बार मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवेंद्र फडणवीस और सूबे के डिप्टी सीएम बने अजित पवार को बधाई दी. उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि दोनों ही मिल कर महाराष्ट्र के विकास और भविष्य के लिए काम करेंगे.

READ More...  IAS और IPS अफसर की दोस्ती प्यार में बदली, चर्चा में है मंदिर हुई शादी