कांग्रेस ने राज्यपाल के खिलाफ खोला मोर्चा, चलाएगी #SpeakUpForDemocracy अभियान

0
70
यह अभियान सोशल मीडिया पर आज दिन भर चलेगा. वहीं, सोमवार को कांग्रेस पार्टी जयपुर सहित सभी राज्य की राजधानियों में राजभवन का घेराव करेगी.

जयपुर. राजभवन और राजस्थान सरकार के बीच टकराव बढ़ता ही जा रहा है. विधानसभा सत्र की अनुमति नहीं देने से नारजा कांग्रेस ने अब राज्यपाल के खिलाफ मोर्चा खोला दिया है. कांग्रेस पार्टी रविवार को #SpeakUpForDemocracy अभियान चलाएगी. यह अभियान सोशल मीडिया पर आज दिन भर चलेगा. वहीं, सोमवार को कांग्रेस पार्टी जयपुर सहित सभी राज्य की राजधानियों में राजभवन का घेराव करेगी. राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने ट्वीट कर कहा कि देश की संवैधानिक संस्थाओं व मूल्यों पर भाजपा द्वारा निरंतर प्रहार किया जा रहा है. लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकारों को धन बल व केन्द्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग से अस्थिर करने का कुंठित कृत्य किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इसी क्रम में राष्ट्रव्यापी #SpeakUpForDemocracy अभियान चलाया जाएगा.

दरअसल, कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने ट्वीट कर राजभवन घेराव की घोषणा की है. वेणुगोपाल ने लिखा, लोकतंत्र की हत्या के खिलाफ देश भर के राजभवन घेरेगी कांग्रेस. इधर, बीजेपी नेता राज्यपाल से राजभवन में मुलाकात की. राज्यपाल से मुलाकात के बाद बीजेपी राज्य सरकार पर हमलावर हो गई. बीजेपी का कहना है कि हमने राष्ट्रपति शासन की मांग नहीं की है. बीजेपी ने सीएम गहलोत से इस्तीफे की मांग भी की है. बीजेपी का कहना है कि सीएम गहलोत ने राजभवन घेराव की चेतावनी दी थी. उन्होंने गलत भाषा का इस्तेमाल किया था. होटल फेयरमोंट में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद सीएम अशोक गहलोत ने कहा, बीजेपी के षड्यंत्र को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा.

READ More...  मनीष सिसोदिया की तबीयत खराब,आज विधानसभा की कार्यवाही में हिस्सा नही ले रहे

शनिवार को कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन किया था

बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने शनिवार को पूरे राजस्थान में केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया था. कांग्रेस ने 11 बजे से सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन शुरू किया था. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने विरोध प्रदर्शन को लेकर निर्देश जारी किए थे. निर्देश में कोरोना गाइडलाइन का पालन करने को कहा गया था. 50 से ज्यादा लोगों को इकट्ठा नहीं होने की हिदायत दी गई थी.

विधानसभा सत्र  बुलाने की मांग रखी थी

बता दें कि राजस्थान में लगातार गहराते जा रहे सियासी संकट के बीच अब सरकार और राजभवन के बीच भी टकराव शुरू हो गया है. दरअसल, सीएम अशोक गहलोत ने गुरुवार को राज्यपाल कलराज मिश्र  से मिलकर विधानसभा सत्र बुलाने की मांग रखी थी. आज राज्यपाल ने उसपर कई क्वेरीज की हैं. उन्होंने जानना चाहा है कि आखिर इतनी जल्दी क्या है कि अचानक से सत्र बुलाने की मांग की गई?