उदयपुर: पार्टी से इतना लगाव की 18 साल बाद घर में पैदा हुआ बेटा और पिता ने नाम रखा ‘कांग्रेस जैन’

0
95

उदयपुर: आम तौर पर किसी के घर में बच्चे का जन्म होता है तो सभी उस नन्हें मेहमान का नाम क्या रखा जाए, इसी पर चर्चा करते हैं. बड़ी खोजबीन के बाद उस नन्हें मेहमान का नाम तय किया जाता है लेकिन अगर वो नाम किसी राजनैतिक दल के ऊपर हो तो बड़ा अजीब लगेगा.

जी हां, कुछ ऐसा ही मामला उदयपुर में सामने आया है. यहां कांग्रेस पार्टी में एक कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने अपने बेटे का नाम ही कांग्रेस रख दिया.

बच्चे को अभी दुनिया में आए कुछ ही महीने हुए हैं. इसे नहीं पता कि उसका जन्म दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र वाले देश में हुआ है. बावजूद इस छोटी सी उम्र में ये बच्चा एक राजनैतिक दल से जुड़ गया है. जी हां, सही पढ़ा आपने. इस बच्चे का नाम सोनू या मोनू नहीं बल्कि ‘कांग्रेस जैन’ है.

18 साल बाद हुई पुत्र रत्न की प्राप्ति 
दरअसल, उदयपुर के बेदला गांव में रहने वाले विनोद जैन कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं और सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से काफी प्रभावित हैं. 18 जुलाई को विनोद के घर बेटे ने जन्म लिया. वैसे तो विनोद दो बेटियों के पिता हैं लेकिन शादी के 18 साल बाद पुत्र रत्न की प्राप्ति होने की खुशी उन्होंने कांग्रेस पार्टी के सच्चे सेवक होने के रूप में बयां की और अपने बेटे का नाम कांग्रेस जैन रखने का निर्णय लिया. यही नहीं, उन्होंने सरकार की ओर से जारी होने वाले बच्चे के बर्थ सर्टिफिकेट पर भी बेटे का नाम कांग्रेस जैन ही लिखवाया है.

परिवार ने नहीं दिया साथ
विनोद जैन द्वारा अपने बेटे का नाम कांग्रेस जैन रखना इतना आसान भी नही था. खुद विनोद की पत्नी और बेटियों के साथ परिवार के लोगों ने भी इसका विरोध किया लेकिन अपनी धुन के पक्के विनोद ने अपना निर्णय नहीं बदला. आखिर सब को मनाते हुए बेटे का नाम अपनी पार्टी के नाम पर रख लिया, बेटे का नाम कांग्रेस रखने वाले जैन अपने बेटे को राजनेता बनाने की ख्वाहिश रखते है. उनका मानना है कि आज भले ही कांग्रेस पार्टी के देश मे जनाधार कम हुआ हो लेकिन उनका बेटा जब 18 वर्ष का होगा, तब तक पार्टी मजबूत होगी और कांग्रेस जैन उसे ओर अधिक मजबूती प्रदान करेगा.

READ More...  मण्डरायल अस्पताल के नए भवन का खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने किया शिलान्यास