कोरोना का डर हुआ कम, जयपुर में तीन मरीज हुए ठीक

0
397

जयपुर:  राजस्थान में जयपुर में भर्ती कोरोना से पीड़ित तीन मरीज ठीक हो गए है। इनके उपचार के बाद अब इनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है । वहीं इससे प्रदेश में अभी तक 400 से अधिक लोगों की जांच के लिए सेम्पल लिए गए थे। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि 4 पाॅजिटिव लोगों के इलाज के बाद 3 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इटली से आए दल के सम्पर्क में आए लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। सीधे सम्पर्क में आए 118 लोगों के सेम्पल लिए गए थे, जो जांच में नेगेटिव पाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 1 लाख 48 हजार 188 घरों का सर्वे किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि देशी-विदेशी पर्यटकों की अलग से स्क्रीनिंग की जा रही है। होटल एसोसिएशन के साथ बैठकें की जा रही हैं। समूहों में आने वाले विदेशी पर्यटकों की जांच चिकित्सा विभाग के दल होटलों में जाकर कर रहे हैं। इसके अलावा विदेश यात्रा से लौटे स्थानीय लोगोें की भी स्क्रीनिंग के बाद लगातार माॅनिटरिंग की जा रही है और बीमारी से जुड़े लक्षण दिखाई देने पर ऐसे व्यक्ति को आईसोलेशन में रखा जा रहा है।
आपको बता दे कि राजस्थान ऐपिडेमिक एक्ट-1957 के तहत कोविड-19 (कोरोना) को नाॅटिफाई किया जा चुका है। जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर तथा झालावाड़ मेडिकल काॅलेजों में कोरोना वायरस की जांच सुविधा उपलब्ध कराई गई है। एसीएस ने बताया कि जिलों में कोरोना की रोकथाम के लिए जिला कलक्टर को नाॅडल अधिकारी बनाया गया है। प्रदेश की 11,152 ग्राम पंचायतों पर विशेष ग्राम सभा के माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के प्रति जागरूक किया गया है।

READ More...  पक्षियों की कब्रगाह बनी सांभर झील, जांच के लिए कोयंबटूर भेजे जाएंगे मृत पक्षियों के सैंपल

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह ने बताया कि मेडिकल काॅलेज स्तर पर रेपिड रेस्पाॅन्स टीमें गठित की गई हैं। जिला स्तर पर गठित रेपिड रेस्पाॅन्स टीमों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सरकारी हैल्थ सिस्टम के अलावा निजी चिकित्सालयों एवं रेलवे के हाॅस्पिटल्स की मदद ली जा रही है। एसएमएस अस्पताल में अलग से 30 बैड का आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसके अलावा प्रदेश के सभी मेडिकल काॅलेजों एवं जिला स्तर पर भी आईसोलेशन वार्ड की सुविधा उपलब्ध है। संदिग्ध रोगियों को क्वारेंटाइम करने के लिए स्थान चिन्हित कर लिए गए हैं।