दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता रेड जोन में, 4 मई के बाद भी जारी रहेगी सख्ती

0
97

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए पिछले 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन ( Lockdown) है. लॉकडाउन के दौरान न तो कोई अपने घरों से निकल सकता है और न ही किसी को दुकान और कारखाने खोलने की इजाजत है. 25 मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन को खत्म होने में अब बस दो दिन और शेष बचे हैं. ऐसे में हर कोई 4 मई से मिलने की छूट की उम्मीद लगाए बैठा है. लोगों की उम्मीदों के बीच केंद्र सरकार ने पहले ही कह दिया है कि 4 मई से कुछ जोन में मिलने वाली छूट का लाभ महानगरों (Metropolitan City) को नहीं मिल सकेगा.

केंद्र सरकार के नए आदेश के मुताबिक दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु और अहमदाबाद रेड ज़ोन में शामिल रहेंगे. उन्हें आगे भी लॉकडाउन के नियमों का सख्ती के साथ पालन करना होगा. सरकार की ओर बताया गया है कि देश की राजधानी दिल्ली के करीब फरीदाबाद, नोएडा, मेरठ को भी रेड ज़ोन में शामिल किया गया है, जबकि गुरुग्राम और ग़ाज़ियाबाद को ऑरेंज ज़ोन में शामिल रखा गया है.

न्यूज़ 18 के पास देश के अलग-अलग ज़ोन की पूरी लिस्ट है. इसके मुताबिक देश के 733 जिलों को तीन अलग-अलग जोन में बांटा गया है. ग्रीन जोन में वो जिले हैं जहां पिछले 28 दिनों से कोरोना का कोई नया मामला सामने नहीं आया है. इसके अलावा ऑरेंज ज़ोन यानी वो इलाका जहां पिछले 14 दिनों में कोरोना का कोई नया केस न आए हों वहां भी पाबंदियों में कुछ ढील दी जा सकती है. इसके अलावा रेड ज़ोन में किसी भी तरह की छूट की कोई संभावना नहीं है.

कौन से राज्य में कितने रेड जोन
केंद्र द्वारा जारी की गई सूची में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 1, आंध्र प्रदेश में 5, बिहार 5, चंडीगढ़ में 1, छत्तीसगढ़ में 1, दिल्ली में 11, गुजरात में 9, हरियाणा में 2, जम्मू-कश्मीर में 4, झारखंड में 1, कर्नाटक में 3, केरल में 2, मध्य प्रदेश में 9, महाराष्ट्र में 14, ओडिशा में 3, पंजाब में 3, राजस्थान में 8, तमिलनाडु में 12, तेलंगाना में 6, यूपी में 19, उत्तराखंड में 1 और बंगाल में 10 जिले रेड जोन में हैं.