1200 प्रवासियों को लेकर तेलंगाना से झारखंड के लिए चली पहली ट्रेन

0
105

हैदराबाद. देश भर में कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन  के बीच प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए तेलंगाना में लिंगमपल्ली से  झारखंड के हटिया तक 1200 प्रवासियों को ले जाने वाली पहली ट्रेन शुक्रवार सुबह 4:50 बजे चली. 24 कोच की ट्रेन आज रात 11 बजे झारखंड के हटिया पहुंचेगी. दिशानिर्देशों के अनुसार क्वारंटीन  आदि सहित सभी उचित प्रक्रिया का पालन किया जाएगा. बताया गया कि ट्रेन 1200 मजदूरों को लेकर चली.

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार ‘तेलंगाना सरकार के अनुरोध पर और रेल मंत्रालय के निर्देशानुसार लिंगमपल्ली (हैदराबाद) से हटिया (झारखंड) तक आज एक विशेष ट्रेन चलाई गई.’

भारतीय रेलवे के सूत्रों के अनुसार, श्रमिकों को भेजे जाने का काम दोनों राज्य सरकारों के बीच परामर्श के बाद ही होगा. राज्य अधिकारियों को उनकी मेडिकल जांच के लिए  भेजेंगे. अभी उनके पास स्टाफ कम है. रेलवे आज चली पहली स्पेशल ट्रेन की समीक्षा करेगा और फिर जल्द ही दूसरे राज्यों के लिए शुरू करेगा.

कहा कि आज सुबह तेलंगाना राज्य सरकार के अनुरोध पर और रेल मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार लिंगमपल्ली से हटिया तक एक एक विशेष ट्रेन चलाई गई.  रेल मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार और  राज्य सरकारों दोनों से अनुरोध पर यह केवल विशेष ट्रेन थी और इसके बाद किसी भी ट्रेन की योजना बनाई जाएगी.’

गृह मंत्रालय ने दिये थे यह आदेश
बीते दिनों केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा था कि उसने देश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की है और पाया है कि लॉकडाउन के कारण अब तक बहुत फायदे हुए हैं और चार मई से अनेक जिलों में पर्याप्त राहतें देने के लिए नए दिशानिर्देश जल्द जारी किये जाएंगे.

READ More...  Jaipur: शहीद राजीव शेखावत को अंतिम विदाई देने उमड़ा जन सैलाब

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने एक आदेश में कहा कि ऐसे फंसे हुए लोगों के समूहों को ले जाने के लिए बसों का इस्तेमाल किया जाएगा और इन वाहनों को सैनेटाइज किया जाएगा तथा सीटों पर बैठते समय सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा.