काेरोनावायरस और यस बैंक संकट से सेंसेक्स 1459 अंक नीचे आया; यस बैंक के शेयर 76% गिरे, एसबीआई 12% लुढ़का

0
243
  • सेंसेक्स 37011 तक फिसला, निफ्टी 442 अंक गिरकर 10827 पर आया
  • कोरोनावायरस और यस बैंक के नकदी संकट की वजह से बाजार पर दबाव
  • डॉलर के मुकाबले रुपया 65 पैसे कमजोर होकर 73.99 तक लुढ़का

मुंबई: कोरोनावायरस और यस बैंक के संकट से घबराए निवेशक भारी मात्रा में शेयरों को बेच रहे हैं। इस कारण बाजार खुलते ही सेंसेक्स 1459 प्वाइंट लुढ़क कर 37,011.09 पर आ गया। निफ्टी 442 अंक गिरकर 10,827.40 अंकों पर पहुंच गया। एनएसई पर यस बैंक के शेयर 76% तक नीचे गिर गए हैं। एसबीआई के शेयर में 12% की गिरावट देखने को मिल रही है। गुरुवार को ऐसी रिपोर्ट आई थी कि यस बैंक को बचाने के लिए सरकार एसबीआई को आगे कर सकती है, इस कारण एसबीआई के शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही है। हालांकि, एसबीआई ने साफ किया है कि यस बैंक में निवेश की कोई बात नहीं चल रही।

बाजार में गिरावट की दो वजह
1.
 कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ने की वजह से अर्थव्यवस्था को नुकसान होगा। इस चिंता से दुनियाभर के बाजारों में बिकवाली हो रही है। अमेरिकी और प्रमुख एशियाई बाजार 3% तक लुढ़क गए।
2. भारत में यस बैंक के संकट की वजह से पूरे बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर के शेयरों में बिकवाली तेज हो गई। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने गुरुवार को यस बैंक का मैनेजमेंट कंट्रोल अपने हाथ में लेकर रकम निकासी की लिमिट तय कर दी। खाताधारक 50,000 रुपए से ज्यादा विड्रॉल नहीं कर पाएंगे। हालांकि, आरबीआई ने कहा है कि यस बैंक की रिस्ट्रक्चिरिंग का प्लान जल्द बताया जाएगा।

READ More...  WHO की चेतावनी रूस को Covid-19 वैक्सीन को लेकर, कहा- उन्होंने तीसरा ट्रायल ही नहीं किया

इंडसइंड बैंक के शेयर में 11% गिरावट
सेंसेक्स के सभी 30 और निफ्टी के सभी 50 शेयर नुकसान में हैं। टाटा मोटर्स में 8% गिरावट आ गई। टाटा स्टील 5.5% नीचे आ गय। इंडसइंड बैंक का शेयर 11% लुढ़क गया। बजाज फाइनेंस 5% लुढ़क गया।आईसीआईसीआई बैंक में 3.5% और एचडीएफसी में 3.3% नुकसान देखा गया।