COVID-19: उदयपुर में रिकवरी रेट पहुंची 87.86 फीसदी, अब बचे हैं महज 66 एक्टिव केस

0
74

उदयपुर : झीलों की नगरी उदयपुर  में कोरोना संक्रमित  मामलों की रफ्तार जितनी तेजी से बढ़ी थी उतनी से तेजी से यहां रिकवरी रेट में भी इजाफा हुआ है. लेकसिटी में गत 1 अप्रेल को कोरोना का पहला मामला सामने आने के बाद वर्तमान में यह आंकड़ा 500 के पार जा पहुंचा है. लेकिन इसके साथ ही यहां रिकवरी रेट में भी तेजी से बढ़ते हुए 87.86 प्रतिशत हो गई है. इसका असर यह हुआ कि अब जिले में एक्टिव केस महज 66 बचे हैं.

455 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया जा चुका है
उदयपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 577 हो चुकी है. पिछले कुछ दिनों में अन्य राज्यों से जिले में प्रवासी लोगों के आने का सिलसिला चल रहा है. ये ही लोग ज्यादा संक्रमित पाए जा रहे हैं. लेकिन अब जिले में 577 कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में से 507 रिकवर हो चुके हैं. इनमें से 455 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया जा चुका है. उदयपुर में अब सिर्फ 66 एक्टिव केस बचे हैं. ये एक्टिव केस भी जल्द रिकवर होने की उम्मीद जताई जा रही है. चार लोगों की मौत हो चुकी है.

चिकित्सा विभाग और प्रशासनिक अधिकारी खासे उत्साहित हैं

उदयपुर में रिकवरी रेट बेहतर होने से चिकित्सा विभाग और प्रशासनिक अधिकारी खासे उत्साहित हैं. उदयपुर में शहरी इलाके में एक साथ बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीज सामने आये थे. उसके बाद शहर का कांजी का हाटा और उसके आसपास के इलाके हॉट-स्पॉट में तब्दील हो गये थे. अब उदयपुर के सभी 70 में से 62 वार्ड कोरोना मुक्त हो चुके हैं. वहीं अन्य 8 वार्डों में सिर्फ 16 एक्टिव केस बचे हैं. अन्य सभी एक्टिव केस ग्रामीण इलाकों से हैं. इनमें भी अधिकतर अन्य राज्यों से आए लोग शामिल हैं.

READ More...  क्या कोरोना और भारत-चीन सीमा विवाद पर पड़ेगा साल के पहले सूर्यग्रहण असर ?

दो से तीन दिनों में रिकवरी रेट में और इजाफा होगा
उदयपुर में चिकित्सा विभाग को उम्मीद है कि आने वाले दो से तीन दिनों में रिकवरी रेट में और इजाफा होगा. अब ग्रामीण इलाके के मरीज भी जल्द रिकवर कर घर भेजे जा सकेंगे. उदयपुर के ग्रामीण अंचल के अब 37 क्षेत्रों में 51 संक्रमित मरीज हैं. पिछले 15 दिनों में ग्रामीण इलाकों में ही सर्वाधिक संक्रमण सामने आया था. उदयपुर में मुख्य रूप से मुंबई से आये प्रवासी ज्यादा संक्रमित पाये जा रहे हैं. ऐसे में चिकित्सा विभाग भी कोरोना लक्षण वाले प्रवासियों पर विशेष नजर रख रहा है. मुंबई से आने वाले लोगों की सर्वाधिक सेम्पलिंग की जा रही है.