COVID-19: जून-जुलाई में बढ़ सकता है कोरोना का प्रकोप, लॉकडाउन से तैयारियों के लिए मिला समय

0
234
Hyderabad: Medics outside an isolation ward of the novel coronavirus (COVID-19) at a hospital in Hyderabad, Friday, March 13, 2020. India has more than 70 positive coronavirus cases so far and recorded its first COVID-19 death in Karnataka. (PTI Photo)(PTI13-03-2020_000060B)

नई दिल्ली : देश में कोरोना महामारी की जंग लंबी होती जा रही है. भारत में कोरोना महामारी का पीक सीजन कब आएगा, ये एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब 130 करोड़ की जनता जानना चाहती है. पहले कहा जा रहा था कि देश में कोरोना वायरस महामारी के सबसे ज्यादा मामले मई के दूसरे हफ्ते में आएंगे. लेकिन, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि जून-जुलाई में कोरोना वायरस के मामले सबसे ज्यादा होंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का फायदा मिला है और लॉकडाउन (Lockdown) में कोरोना के केस ज्यादा नहीं बढ़े. साथ ही लॉकडाउन से इस महामारी से लड़ने के लिए अतिरिक्त समय भी मिला है.

AIIMS के डायरेक्टर का कहना है, ‘मौजूदा समय में कोरोना केस का ग्राफ फ्लैट रेट से बढ़ रहा है. कभी-कभी ग्राफ फ्लैट से थोड़ा उपर आ रहा है. इसलिए अभी अनुमान लगाना मुश्किल है कि कोरोना महामारी का पीक सीजन कब तक आएगा. जिस तरीके से ट्रेंड दिख रहा है, कोरोना के केस जून में पीक पर होंगे. हालांकि ऐसा बिल्कुल नहीं है कि बीमारी एक बार में ही खत्म हो जाएगी. हमें कोरोना के साथ जीना होगा. धीरे-धीरे कोरोना के मामलों में कमी आएगी.’

डॉ. रणदीप गुलेरिया के मुताबिक, कोरोना केसों की फ्लैट रेट से बढ़ोतरी भारत के संदर्भ में राहत वाली बात है. पिछले सप्ताह में मामलों में अचानक वृद्धि हुई है, लेकिन रेट रैखिक ही रही है और आधे अप्रैल की तुलना में गिरावट देखी गई है.

4 से 8 परसेंट के बीच है डेली ग्रोथ रेट

READ More...  पंचतत्‍व में व‍िलीन ऋषि कपूर, बेटे रणबीर और पत्‍नी नीतू ने दी अंतिम व‍िदाई- देखें PHOTOS

देश में कोरोना केस के बढ़ने की रेट 4 से 8 परसेंट के बीच है. जबकि, पिछले सप्ताह यह तीन अलग-अलग मौकों पर 9 प्रतिशत रही थी. 7 से 22 अप्रैल के बीच कोरोना मामलों के बढ़ने की दर 5 प्रतिशत से 16 प्रतिशत के बीच थी, जो इस अवधि के 15 दिनों में 9 प्रतिशत से 10 प्रतिशत तक थी.

कितनी है रिकवरी रेट?
बीते 7 दिनों के कोरोना के रिकवरी रेट की बात करें तो 3 मई को यह 26.59 फीसदी था. 4 मई को 27.45, 5 मई को 28.17, 6 मई को 28.71, 7 मई को 28.83, 8 मई को 29.35 और 9 मई को यह 29.91 फीसदी रहा.

देश के 216 जिलों में कोरोना का कोई केस नहीं
देश के 216 जिलों में कोरोना वायरस का अब तक कोई मामला सामने नहीं आया है. वहीं, 42 जिलों में पिछले 28 दिन से और 29 जिलों में पिछले 21 दिन से कोविड-19 का कोई नया मामला नहीं आया है. 36 जिले ऐसे हैं, जहां पिछले 14 दिन में कोविड-19 का कोई नया मामला नहीं आया है. 46 जिलों में पिछले सात दिन से कोरोना वायरस संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है.

कितनी है मृत्यु दर?
भारत अभी कोरोना मृत्यु दर में भी बेहतर स्थिति में है. अभी भारत में मृत्यु दर 3.35% है. वहीं, बेल्जियम में मृत्यु दर 16.38%, फ्रांस में 14.87%, यूके में 14.81%, इटली में 13.87%, स्पेन में 10.14% है.