डेंगू का बढ़ा प्रकोप, जानें डेंगू के सामान्य लक्षण और इसकी रोकधाम के उपाय

0
12
डेंगू का प्रकोप मानसून के अंत में बढ़ने लगता है. डेंगू बुखार एक मच्छर जनित वायरल बीमारी है जो डेंगू वायरस के कारण होती है. यह एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है.

डेंगू का प्रकोप मानसून के अंत में बढ़ने लगता है. डेंगू बुखार एक मच्छर जनित वायरल बीमारी है जो डेंगू वायरस के कारण होती है. यह एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है. डेंगू से संक्रमित लोगों में हल्के और कभी-कभी कोई लक्षण नजर नहीं आते हैं. रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, डेंगू से संक्रमित 75 फीसदी लोगों में इसके लक्षण नहीं दिखते हैं, जबकि 20 फीसदी में हल्के लक्षण नजर आते हैं और वहीं 5 फीसदी लोगों में डेंगू के गंभीर लक्षण पता चलते हैं जो संक्रमित के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं. आइए जानते हैं डेंगू के सामान्य लक्षणों और इससे बचने के साधारण उपायों के बारें में..

डेंगू बुखार के कुछ सामान्य संकेत और लक्षण

डेंगू बुखार के लक्षण अन्य संक्रमण रोगों की तरह सामान्य हैं. इसमें पीड़ित को तेज बुखार, नियमित रूप से सिरदर्द, आंखों में दर्द, मांसपेशियों, हड्डी और जोड़ों में असहनीय दर्द, जी मचलाना, बार-बार उल्टियां करना, ग्रंथियों का सूजना, त्वचा पर लाल चकत्तों का बनना इसके सामान्य लक्षणों में हैं. इसके अलावा, समय पर इसका उपचार कराने से फेफड़ों, यकृत और हृदय को होने वाली क्षति से बचा जा सकता है.

डेंगू बुखार के संक्रमण को रोकने के असरदार तरीके

मच्छरदानी: सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करना मच्छरों के काटने से बचने के लिए सबसे प्रभावी तरीका है.

मच्छर रेप्लेंट क्रीम : शरीर के दिखने वाले हिस्से पर मच्छर से दूर रखने वाली क्रीम लगाएं, लेकिन याद रहे शरीर पर लगी चोट और घाव पर इसे लगाने से बचें.

READ More...  राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने स्थगित की अक्टूबर में होने वाली परीक्षाएं

पूरी आस्तीन के कपड़े पहनें: मच्छरों के काटने से बचने के लिए अपने पूरे शरीर को ढकने के लिए फुल-स्लीव की शर्ट और लंबी पैंट ही पहनें.

साफ वातावरण: अपने आस-पास के पर्यावरण को स्वच्छ रखकर मच्छरों के प्रजनन पर रोक लगाई जा सकती है. मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए घर के आसपास फैले पानी को तुरंत साफ कर दें.

सूर्यास्त से पहले खिड़की और दरवाजे बंद करें: अपने घर को मच्छरों से बचाए रखने के लिए सूर्यास्त से पहले ही घर के सभी खिड़की और दरवाजे अच्छे से बंद कर दें क्योंकि इस वक्त मच्छर घरों में प्रवेश करने लगते हैं.

खाली बर्तनों और कंटेनर की सफाई करें: मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए पानी से भरे बर्तन, कटोरा या बाल्टी को हमेशा खाली कर उन्हें साफ करें.

कूलर के पानी को बदलें: मच्छरों के कूलर के पानी में सबसे ज्यादा पाए जाने की शिकायत आती रही है. इसलिए मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए जरूरी है कि आप अपने कूलर में भरे पानी को नियमित रूप से बदलते रहें. अवांछित कीड़ों से बचने के लिए कूड़ेदान को भी साफ करते रहें.

कपूर, मच्छर भगाने वाली अगरबत्ती या मशीन का इस्तेमाल करें: कपूर या मच्छर भगाने वाली अगरबत्ती जलाएं और घर से मच्छरों को दूर रखने के लिए विकर्षक मशीनों को भी नियमित रूप से चालू रखें.

छत पर रखे सामानों को साफ करें: छत पर रखे सामन जैसे टायर, टब, खाली गमले आदि पानी जमा होने वाले सामानों को छत से हटा दें या फिर उन्हें समय-समय पर साफ करते रहें.