टिकिट नहीं मिलने पर प्रत्याशियों ने किया हंगामा, चुनाव के नामांकन में माहौल फीका आ रहा है नजर

0
35

जयपुर. राजस्थान में पंचायती राज चुनाव के बाद अब निकाय चुनाव ने रफ्तार पकड़ ली है। नामांकन के बाद चुनाव प्रचार-प्रसार की गतिविधि तेज हो जाएगी। प्रदेश के तीन शहरों की छह नगर निगमों के लिए कांग्रेस-भाजपा ने अपने-अपने प्रत्याशियों की सूचियाँ जारी कर दी हैं। हालांकि कुछ वार्डों में आखिरी समय तक विवाद बना हुआ है जिन्हें पार्टी नेता अंतिम समय तक सुलझाने की मशक्कत करते दिखाई दिए। सूचियाँ जारी होने के साथ ही अब चुनावी समर में उत्तरने वाले प्रत्याशियों की तस्वीर भी साफ़ हो गई है। हालांकि दोनों ही पार्टियों को अपनों का ही बागी होकर बतौर निर्दलीय चुनाव मैदान में उत्तरने का खतरा बरकरार है। इधर, नगर निगम चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन पर जिस बात का अंदेशा था वही हुआ। प्रमुख राजनीतिक दलों से टिकिट पाने से वंचित रह गए दावेदारों और उनके समर्थकों ने रात भर जमकर हंगामा किया। कांग्रेस हो या अपने को ‘पार्टी विद डिफरेंस’ कहने वाली भाजपा, दोनों दलों के कार्यकर्ताओं ने अनुशासन की सभी सीमाएं लांघ डाली। पार्टी दफ्तरों में हंगामा इस कदर बरपा रहा कि पुलिस तक बुलानी पड़ गई। जो कार्यकर्ता कभी अपनी पार्टी की रीती-नीति और उपलब्धियों की तारीफ करते नहीं थकते थे वे टिकिट वितरण में पैसे के लेन-देन तक के आरोप लगाते दिखाई दिए।

बिना ढोल नगाड़ों और लाव लश्कर के उम्मीदवार पहुंच नामांकन करने, आज है अंतिम दिन

जिसे प्रकार पंचायती राज चुनाव में उम्मीदवार में जोश देख रहा था वो निकाय चुनाव में दिखाई नही दे रहा है। सोमवार को जयपुर नगर निगम चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन माहौल फीका नजर आया। बिना ढोल नगाड़ों और लाव लश्कर के उम्मीदवार नामांकन करने पहुंचे। पहले जहां एक-एक उम्मीदवार के साथ 200 समर्थक नामांकन करने पहुंचते थे वहीं इस बार ऐसा कुछ नजर नहीं आया। कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए नामांकन प्रक्रिया पूरी की जा रही है। नामांकन केंद्रों पर एक समय में एक उम्मीदवार और एक प्रस्तावक को प्रवेश दिया जा रहा है। साथ ही इसकी वीडियोग्राफी भी करवाई जा रही है। नगर निगम हेरिटेज के 100 और जयपुर ग्रेटर के 150 वार्डों के लिए नामांकन भरे जा रहे हैं। सभी केंद्रों पर पुलिस का भारी जाप्ता तैनात है। करीब सभी केंद्रों पर कतार में लगाकर नामांकन भरवाया जा रहा है। नामांकन प्रक्रिया देर शाम तक चल सकती है क्योंकि आज अंतिम दिन बड़ी संख्या में नामांकन होंगे। इसलिए टोकन की भी व्यवस्था की गई है। जो उम्मीदवार नामांकन केंद्र पर समय से पहले पहुंच जाएगा उसे टोकन दिया जाएगा।

READ More...  राजस्थान में सार्वजनिक स्थल 31 मार्च तक बंद, 50 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी