गोविंद गुरु सरीखे सभी महापुरुषों के पुण्य स्मरण से मिलती है शक्ति

0
184

दीपक शर्मा @जयपुर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैया जी जोशी ने वागड़ के प्रसिद्ध व जलियावालाबाग हत्याकांड से बड़े बलिदान के साक्षी मानगढ़ धाम पर गोविन्द गुरु को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि महापुरूषों के स्मरण से शक्ति मिलती है जिससे कि राष्ट्र चेतना का जागरण होता है। महापुरूष किसी विशेष जाति के लिए नहीं होते, अपितु संपूर्ण समाज और राष्ट्र के लिए समर्पित होते हैं। महापुरुषों ने देश को विश्व का सिरमौर बनाने हेतु विभिन्न प्रकार के तप किए हैं, उनका प्रयास रहा है, कि संपूर्ण समाज समरस रहे। मानगढ़ धाम पर गोविंद गुरु को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा की यहां आकर एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है, ऐसे तीर्थों पर आकर राष्ट्र सेवा, समाज सेवा की प्रेरणा निरन्तर मिलती रहती है। हम सब को गोविंद गुरु के बताये रास्ते पर चलते हुए राष्ट्र के गौरव को बढ़ाना चाहिए। ज्ञात रहे 1913 में यही पर अंग्रेजों ने स्वतंत्रता के लिये आंदोलन कर रहे निर्दोष भील बन्धुओं पर गोलीबारी की लगभग 1500 से भी अधिक जनजातीय बन्धुओं के बलिदान से भूमि पवित्र हो गयी । भैया जी जोशी दो दिवसीय डूंगरपुर के आदर्श ग्राम भेमई गांव में प्रवास पर आये थे जहां उन्होंने ग्राम विकास एवं ग्राम स्वावलंबन के कार्यों को देखा और प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कार्यकर्ताओं से ग्राम विकास के माध्यम से राष्ट्र को उन्नति पथ पर अग्रसर करने का आह्वान किया।

READ More...  दिल्ली हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल की मौत के बाद परिजन नाराज