बेहद शातिर था आतंकी के साथ पकड़ा गया DSP दविंदर सिंह, प्रमोशन के लिए इस तरह फिट किया था जुगाड़

0
233

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के आतंकियों के साथ पकड़े गए पुलिस ऑफिसर दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) को लेकर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दविंदर सिंह बेहद शातिर था और उसने अपने प्रमोशन के लिए जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के पहले लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीश चंद्र मुर्मू से भी बात की थी. LG से मिलकर उसने कहा था कि जान की बाजी लगाकर उसने देश की सेवा की है और वो सच्चे देशभक्त हैं. ऐसे में उसे प्रमोशन मिलनी चाहिए.

LG से हुई थी मुलाकात
अंग्रेजी अखबार एशियन एज की रिपोर्ट के मुताबिक एंटी हाईजैकिंग स्कॉड के सदस्य होने के चलते दविंदर सिंह श्रीनगर के एयरपोर्ट पर तैनात था. यही पर मौका पाकर उसने एक दिन गिरीश चंद्र मुर्मू से मुलाकात की. दविंदर ने अपने बारे में मुर्मू को बताया की वो फिलहाल DSP है और उन्हें प्रमोशन मिलनी चाहिए. अखबार ने दावा किया है कि इसके बाद दविंदर की फाइल तेजी से आगे बढ़ने लगी और जल्द ही वो प्रमोट होकर SP बनने वाला था, लेकिन आतंकियों के साथ पकड़े जाने के बाद उसकी सारी करतूत दुनिया के सामने आ गई.

प्रमोशन के लिए इस तरह फिट किया था जुगाड़

अखबार ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि पिछले साल दिसंबर के महीने में मुर्मू दिल्ली से श्रीनगर के दौरे पर गए थे. एयरपोर्ट पर दविंदर को ही लफ्टिनेंट गवर्नर मुर्मू को रीसिव और सी ऑफ करने की ज़िम्मेदारी दी गई थी. इसी दौरान उसने मौका पाकर वीआईपी लॉन्ज में LG से मुलाकात की. सिंह ने इसी दौरान उन्हें बताया कि वो स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) में शामिल रहा है, जहां उसने कई एंटी टेरर ऑपरेशन को अंजाम दिया. दविंदर ने ये भी बताया कि उसका कई ऑपरेशन कामयाब रहा. दावा ये भी किया जा रहा है कि दविंदर ने LG को अपना बायां पैर भी दिखाया, जहां उसे गोली लगी थी. उसने कहा कि वो सच्चा देश भक्त है उसे प्रमोशन मिलनी चाहिए.

READ More...  सरपंच के लिए 17,242 उम्मीदवार मैदान में, 42 हजार से ज्यादा पंच के लिए लड़ रहे चुनाव

जल्द बनने वाला था SP
कहा जाता है कि इस मुलाकात के बाद दविंदर सिंह की फाइल तेजी से आगे बढ़ने लगी और वो जल्द ही प्रमोट हो कर SP बनने वाला था, लेकिन आतंकी के साथ पकड़े जाने के बाद दविंदर का सारा खेल खत्म हो गया. अब एनआईए ने मुकदमा दर्ज कर जां; शरू कर दी है