अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर महिला ने एक साथ 3 बेटियों को दिया जन्म

0
176

बाड़मेर. विश्वभर में रविवार को जहां अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर बालिकाओं के अधिकारों और उनके हितों की बात मुखर हो रही थी वहीं राजस्थान के सरहदी बाड़मेर जिले से एक सुखद खबर सामने आई है. यहां एक महिला ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर एक साथ तीन बालिकाओं को जन्म दिया है. फिलहाल जच्चा- बच्चा सब स्वस्थ हैं.

तीनों बेटियां स्वस्थ और सुरक्षित हैं

बाड़मेर जिला मुख्यालय पर स्थित शिवम हॉस्पिटल में रुगानियों कुम्हारों की ढाणी भाड़खा गांव निवासी भरत कुमार कुमावत की पत्नी शायर देवी ने एक साथ तीन बेटियों को जन्म दिया है. तीनों बेटियां स्वस्थ और सुरक्षित हैं. घर में एक साथ तीन बेटियों के आने से घर का हर सदस्य काफी खुश है. वहीं बेटियों के दादा-दादी तो फूले नही समा रहे हैं. बेटियों के दादा करनाराम के मुताबिक उनके लिए रविवार का दिन सबसे सुखद और रोमांचक रहा. घर में तीन-तीन बेटियों का आना बेहद सुखद और शुभ है. उनके मुताबिक बेटियां अपनी किस्मत लेकर आई हैं. करनाराम के अनुसार वे भाग्यशाली होते हैं वो जिनके घर बेटियां होती हैं. उनके घर में तो तीन बेटियां एक ही दिन में आ गई हैं.

पुरानी पीढ़ी के बुजुर्गों का खुशियां मनाना बड़े बदलाव का परिचायक

रविवार को इस दुनिया में कदम रखने वाली तीनों बच्चियों का वजन दो-दो किलो है. तीनों बच्चियां ऑपरेशन से हुई हैं. अंतररष्ट्रीय बालिका दिवस पर इनके जन्म के सुखद संयोग को लेकर शिवम अस्पताल के डॉक्टर राहुल बामणिया ने बताया कि अब सरहदी बाड़मेर में लोगों की सोच में बहुत ज्यादा और सार्थक बदलाव आया है. इन तीनों बेटियों के जन्म पर पुरानी पीढ़ी के बुजुर्गों का खुशियां मनाना बड़े बदलाव का परिचायक है. अंतराष्ट्रीय बालिका दिवस के दिन का संजोग अपने आप में नजीर बन गया है.

READ More...  राज्य में 269 कोरोना पॉजीटिव, बढ़कर संख्या हुई 9100, 5 की मौत

बधाई देने आने वालों का तांता लगा

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर सरहदी बाड़मेर में तीन बच्चियों को एक साथ जन्म देने के संयोग के चर्चे पूरे शहर में छाए हुये हैं. बच्चियों के परिजनों को बधाई देने आने वालों का तांता लगा हुआ है.