IPL 2020 Auction: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर खूब बरसे पैसे, युवा भारतीयों के लिए भी खुली तिजोरियां

0
42

कोलकाता :  ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के दबदबे के बीच तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat Cummins) गुरुवार को इंडियन प्रीमियर लीग नीलामी 2020 9Indian Premier League Auction 2020) की नीलामी में सबसे अधिक कीमत पर बिकने वाले विदेशी खिलाड़ी बने. दो बार की चैम्पियन कोलकाता नाइट राडडर्स (Kolkata Knight Riders) ने उन पर 15.50 करोड़ रुपये की बोली लगाकर अपनी टीम से जोड़ा. कमिंस के टीम के साथ जोड़ने के लिए लिए दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच होड़ दिखी लेकिन उनकी बोली प्रक्रिया में शामिल होने के बाद केकेआर ने सबसे अधिक 15.50 करोड़ रुपये की बोली लगाई. कमिंस ने आईपीएल के 25 मैचों में अब तक 32 विकेट लिए है जहां उन्होंने प्रति ओवर लगभग छह रन दिए थे. कमिंस ने सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी के मामले में बेन स्टोक्स का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्हें राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स ने 2017 में 14.5 करोड़ रुपये में खरीदा था. इस बोली प्रक्रिया में कुल 338 खिलाड़ी शामिल थे.

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का रहा दबदबा
नीलामी में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का दबदबा रहा. अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिये मशहूर ग्लेन मैक्सवेल के लिए दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब ने खासी दिलचस्पी दिखाई. पंजाब की टीम 10.75 करोड़ रुपये की बोली लगा कर 31 साल के इस खिलाड़ी को अपनी टीम में शामिल करने में सफल रही. किंग्स इलेवन पंजाब इस आईपीएल में नीलामी में 42.70 करोड़ रुपये की सबसे अधिक राशि के साथ शामिल हुआ. मैक्सवेल और कमिंस दोनों ने आईपीएल के पिछले सत्र से नाम वापस ले लिया था.

फिंच, कुल्‍टर नाइल, स्‍टोइनिस और रिचर्डसन पर मोटी रकम
ऑस्ट्रेलिया के सीमित ओवरों के कप्तान एरोन फिंच को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 4.4 करोड़ रुपये में खरीदा. मैक्सवेल के ऑस्ट्रेलियाई साथी तेज गेंदबाज नाथन कूल्टर नाइल को मुंबई इंडियन्स ने आठ करोड़ रुपये में जबकि ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी को दिल्ली कैपिटल्स ने 2.40 करोड़ रुपये में खरीदा. हरफनमौला मार्कस स्टोइनिस के लिए दिल्ली कैपिटल्स ने 4.8 करोड़ रुपये की बोली लगाई जबकि तेज गेंदबाज केन रिचर्डसन के लिए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने चार करोड़ रुपये खर्च किए.

वर्ल्‍ड चैंपियन मॉर्गन केकेआर के साथ
क्रिस लिन को मुंबई इंडियन्स ने दो करोड़ रुपये जबकि जोश हेजलवुड को चेन्नई सुपर किंग्स ने इसी रकम में टीम के साथ जोड़ा. इससे पहले इंग्लैंड के विश्व विजेता कप्तान ऑएन मॉर्गन के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स ने 5.25 करोड़ रुपये की सर्वाधिक बोली लगाई. कमिंस और मॉर्गन के लिए दिल खोल कर पैसा खर्च करने के बारे में पूछे जाने पर केकेआर के सहायक कोच अभिषेक नायर ने कहा, ‘मॉर्गन पिछले कुछ समय से फॉर्म में है. मॉर्गन टीम के नेतृत्व समूह में हमें मजबूती प्रदान करेंगे. और कमिंस के स्तर का खिलाड़ी वह गेंद और बल्ले से टीम को काफी कुछ दे सकता है.’

कमिंस बोले- केकेआर के साथ आकर खुश

कमिंस ने ट्वीट किया, ‘केकेआर से जुड़ने का इंतजार कर रहा हूं. मैं केकेआर में वापस जाकर खुश हूं.’ मैक्सवेल ने मानसिक परेशानी से निजात पाने के लिए हाल में क्रिकेट से विश्राम लिया था. टीम में उनकी वापसी पर किंग्स इलेवन पंजाब के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश मेनन ने खुशी जताते हुए कहा कि इससे मध्यक्रम मजबूत होगा. उन्होंने कहा, ‘हम उन्हें टीम में शामिल करना चाहते थे. हमारे लिए मध्यक्रम में थोड़ी चिंताएं थी और यह परेशानी पहले भी रही है. वह टीम के बारे में अच्छे से जानते है.’
मौरिस के लिए आरसीबी ने खर्चे 10 करोड़ रुपये
इस नीलामी में बड़ी रकम पाने वालों में दक्षिण अफ्रीका के क्रिस मौरिस भी शामिल रहे जिनके लिए रॉयल चैलेजर्स बैंगलोर ने 10 करोड़ रुपये की बोली लगाई. वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेल्‍डन कोटरेल की मूल कीमत 50 लाख रुपये थी लेकिन किंग्स इलेवन पंजाब ने उनके लिए दिल खोलकर खर्च किया और साढ़े आठ करोड़ रुपये में टीम के साथ जोड़ा. पंजाब की टीम की ओर से जारी वीडियो में कोटरेल ने कहा, ‘मैं किंग्स इलेवन की ओर से खेलने का इंतजार कर रहा हूं.’
पीयूष चावला सबसे महंगे भारतीय
शिमरोन हेटमायर भी ऊंची बोली पाने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे. भारत के खिलाफ मौजूदा एकदिवसीय श्रृंखला में शानदार बल्लेबाजी करने वाले इस खिलाड़ी को दिल्ली कैपिटल्स ने 7.75 करोड़ में खरीदा. भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके पीयूष चावला को चेन्नई सुपरकिंग्स ने 6.75 करोड़ रूपये में खरीदा. वह भारतीय खिलाड़ियों में सबसे अधिक बोली पाने वाले रहे.
उथप्‍पा-उनादकट पर भी बरसा पैसा
भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा को आईपीएल के पहले सत्र के विजेता राजस्थान रॉयल्स ने तीन करोड़ रुपये में खरीदा. वह इस नीलामी में डेढ़ करोड़ रुपये की मूल कीमत के साथ शामिल हुए थे. केकेआर ने उन्हें पिछले सत्र के बार रिलीज कर दिया था. भारतीय तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट को इस नीलामी में काफी नुकसान उठाना पड़ा 2018 में 11.5 करोड़ और 2019 में 8.5 करोड़ रुपये की बोली पाने वाले इस खिलाड़ी को एक बार फिर राजस्थान रॉयल्‍स ने खरीदा लेकिन लेकिन सिर्फ तीन करोड़ रुपये में.

READ More...  Ayodhya Verdict: प्रदेशभर में सोमवार को सुबह 10 बजे तक बंद रहेगा इंटरनेट

पुजारा-विहारी पर नहीं लगी बोली
इस नीलामी में भारतीय टेस्ट विशेषज्ञों चेतेश्वर पुजारा और हनुमा विहारी को निराशा हाथ लगी जिनके लिए किसी भी प्रेंचाइजी ने बोली नहीं लगाई. आईपीएल फ्रेंचाइजियों ने युवा खिलाड़ियों के लिए भी खजाने खोल दिए. सनराइजर्स हैदराबाद ने झारखंड के बल्लेबाज विराट सिंह और भारतीय अंडर-19 टीम के मौजूदा कप्तान प्रियम गर्ग को एक समान 1.90 करोड़ रुपये में खरीदा. स्पिनर वरुण चक्रवर्ती को कोलकाता नाइट राइडर्स ने चार करोड़ रुपये में टीम से जोड़ा. भारतीय अंडर-19 टीम के बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल को राजस्थान रॉयल्स ने 2.40 करोड़ रुपये में खरीदा. जायसवाल कभी पानी पूरी बेचा करते थे.
48 साल के तांबे को भी मिला खरीदार
राजस्थान के लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को किंग्स इलेवन पंजाब ने दो करोड़ में अपनी टीम से जोड़ा. उनकी मूल कीमत 20 लाख रुपये थी. नीलामी में शामिल सबसे युवा खिलाड़ी अफगानिस्तान के 14 साल के नूर अहमद को किसी फ्रेंचाइजी ने नहीं खरीदा जबकि सबसे उम्र दराज 48 साल के प्रवीण तांबे को केकेआर ने 20 लाख रुपये की मूल कीमत पर खरीदा.