185 देशों में संक्रमण और 11417 मौतें: अमेरिकी उपराष्ट्रपति पेंस का स्टाफर संक्रमित, इटली में मरने वालों की संख्या 4 हजार पार

0
221

वॉशिंगटन/रोम/बीजिंग. दुनियाभर में कोरोनावायरस संक्रमण भयंकर रूप लेता जा रहा है। संक्रमण 185 देशों में फैल चुका है। शनिवार सुबह तक 2 लाख 76 हजार 462 मामले सामने आ चुके हैं और 11 हजार 417 लोगों की मौत हो चुकी है। राहत की बात यह है कि 91 हजार 952 लोग ठीक भी हुए हैं। अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस का एक स्टाफर भी संक्रमित पाया गया है। यूरोप का वुहान बन चुके इटली में अब तक 4032 जान जा चुकी हैं।

अमेरिका 
अमेरिकी उपराष्ट्रपति पेंस का स्टाफर कोरोना से संक्रमित होने वाला व्हाइट हाउस का पहला अफसर बन गया। पेंस की प्रेस सेक्रेटरी केटी मिलर ने संक्रमित होने की जानकारी दी। मिलर ने बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पेंस के बीच बीते दिनों में कोई संपर्क नहीं हुआ है। व्हाइट हाउस ने किसी भी व्यक्ति की एंट्री के लिए सख्त निर्देश जारी किए हैं। इस बीच ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका में नेशनल लॉकडाउन की फिलहाल जरूरत नहीं है।  अमेरिका में मरने वालों की संख्या 275 तक पहुंच चुकी है।

न्यूयॉर्क बन रहा अमेरिका का एपिसेंटर: न्यूयॉर्क में कोरोना संक्रमितों की संख्या 5 हजार से ऊपर पहुंच चुकी है। यह अमेरिका के कुल मामलों का एक तिहाई है। मेयर बिल डि ब्लासियो के मुताबिक, शहर अमेरिका के एपिसेंटर के रूप में सामने आ रहा है। यह बताते हुए अच्छा नहीं लग रहा, लेकिन यह सच है। यहां 29 लोगों की मौत हो चुकी है। यह संख्या तेजी से बढ़ सकती है।

आर्मी के रिक्रूटमेंट सेंटर बंद: अमेरिकी आर्मी ने भर्ती केंद्र फिलहाल बंद कर दिए हैं। आर्मी चीफ ऑफ द स्टाफ जेम्स मैक्कोन्विल ने कहा कि कोरोनावायरस के चलते कुछ वक्त के लिए रिक्रूटमेंट सेंटर्स को बंद किया जा रहा है। फिलहाल वर्चुअल रिक्रूटमेंट होगा, जो सोशल मीडिया पर ही किया जाएगा। इसका मकसद मौजूदा सैनिकों और नई भर्तियों को सुरक्षित रखना है। रक्षा विभाग के मुताबिक, अमेरिकी आर्मी में संक्रमण के 45 नए मामले सामने आए हैं। सेना में संक्रमण के 128 केस हो चुके हैं।

READ More...  टोंक में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) प्रमुक टेड्रॉस ग्रेबेसस के  मुताबिक, ‘‘वुहान में बीते 24 घंटे में कोरोना नया मामला सामने न आना इस बात की उम्मीद जगाता है कि बाकी दुनिया में महामारी से लड़ने के प्रयास सफल होंगे। हमें ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। ये भी सच है कि कोरोना से बुजुर्ग ज्यादा संक्रमित हुए, लेकिन युवाओं में यह ज्यादा नहीं फैल रहा।’’ हालांकि ग्रेबेसस ने युवाओं को चेतावनी भी दी कि ऐसा नहीं समझें कि आप इसकी चपेट में नहीं आएंगे। आपको भी कई दिन अस्पताल में बिताने पड़ सकते हैं या फिर जान भी जा सकती है। लिहाजा सावधानी बरतें।

न्यूजीलैंड
न्यूजीलैंड सरकार ने कोरोनावायरस की जानकारी देने के लिए एक अलर्ट सिस्टम लागू किया है। प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने शनिवार को बाकायदा एक आधिकारिक संदेश में इसका ऐलान किया। यह अलर्ट सिस्टम एक आतंकी हमले की अलर्ट की तरह की काम करेगा। इसमें अलर्ट के 4 लेवल तय किए गए हैं। अलर्ट वन सबसे कम और अलर्ट 4 हाईएस्ट रहेगा। फिलहाल न्यूजीलैंड अलर्ट वन पर है, लेकिन यहां भी नए मामले तेजी से बढ़े हैं। हालांकि आर्डर्न ने यह भी कहा कि अलर्ट लेवल बढ़ने पर भी दवाएं और खाने-पीने का सामान जैसी जरूरी सेवाएं बंद नहीं होंगी। न्यूजीलैंड में अब तक 53 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

कोलंबिया: 21 दिन का आइसोलेशन अनिवार्य
कोलंबिया में देशभर में 24 मार्च से 13 अप्रैल तक आइसोलेशन में रहने को अनिवार्य किया गया है। राष्ट्रपति इवान ड्यूक ने शुक्रवार को राष्ट्र के नाम संदेश में कहा कि आइसोलेशन इमरजेंसी का ही हिस्सा है। देश की फिलहाल आधी आबादी अभी ही आइसोलेशन में रह रही है।