सूर्य ग्रहण के दिन जयपुर में बंद रहेंगे सभी मंदिर, शुद्धिकरण के बाद शुरू होगी पूजा

0
49

जयपुर. इस बार देश में 21 जून को सूर्य ग्रहण लग रहा है. ऐसे में सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) का व्यापक असर देखने को मिलेगा. कहा जा रहा है कि इस बार 91फीसदी तक ग्रहण का असर देखने को मिल सकता है. ऐसे में धार्मिक क्षेत्र की बात करें तो राजस्थान की राजधानी जयपुर में हाल ही खुले सभी छोटे मंदिर सूर्य ग्रहण के दौरान बंद रहेंगे. हालांकि प्रदेश में अभी भी कोरोना वायरस के चलते सारे बड़े मंदिर बंद हैं. लेकिन गली- मोहल्ले में खुलने वाले छोटे मंदिर ग्रहण के दिन बंद रहेंगे. ऐसी मान्यता है कि सूतक लगने पर कोई भी धार्मिक अनुष्ठान नहीं किए जाते हैं. इसी के चलते जब तक ग्रहण रहेगा तब तक सभी मंदिर बंद रहेंगे. ग्रहण की समाप्ति के बाद मंदिर का शुद्धिकरण कर फिर पूजा अर्चना की जाएगी. इसके बाद मंदिर (Temple) के द्वार श्रद्धालुओं के लिए खुलेंगे.

क्या है सूर्य ग्रहण 
सूर्य ग्रहण एक ऐसी अद्भुत घटना है जिसमें कुछ देर के लिए चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से ढंक लेता है. यह पूर्ण ग्रहण होता है. मगर आंशिक और कुंडलाकार ग्रहणों में सूर्य का केवल कुछ हिस्सा ही ढंकता है. 21 जून का ग्रहण भी एक कुंडलाकार ग्रहण होने वाला है. इसे एन्‍यूलर सूर्य ग्रहण (Annular solar eclipse) भी कहा जाता है. इस साल पहले ही दो चंद्र ग्रहण देखे जा चुके हैं. एक 10 जनवरी में देखा गया था और एक 5 जून में दिखाई दिया था. जिस तरह भारत में सूर्य ग्रहण का यह अद्भुत नजारा दिखाई देगा इसी तरह कई अन्‍य देशों में भी यह देखा जा सकेगा.

READ More...  जामिया यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा में 2 करोड़ से ज्यादा का नुकसान, जामिया यूनिवर्सिटी प्रशासन ने MHRD को सौंपा बिल

सूर्य ग्रहण देखते समय रखें सावधानियां
इस नजारे को देखने के लिए लोग काफी उत्‍सुक रहते हैं. मगर यह ख्‍याल रखें कि सूर्य ग्रहण को कभी भी नग्‍न आंखों से न देखें, क्‍योंकि इस तरह सूर्य ग्रहण देखना आंखों के लिए काफी नुक्‍सानदायक हो सकता है. अगर देखना ही है तो इसके लिए दूरबीन, टेलीस्‍कोप आदि का उपयोग करें.

भारत में सूर्य ग्रहण इन समय पर देखा जा सकेगा
आंशिक ग्रहण 21 जून को सुबह 09:15:58 बजे शुरु होगा. वहीं पूर्ण ग्रहण सुबह 10:17:45 बजे दिखाई देगा. इसके अलावा पूर्ण ग्रहण दोपहर 14:02:17 बजे खत्‍म होगा और आंशिक ग्रहण दोपहर 15:04:01 बजे तक समाप्‍त होगा