जयपुर: टिड्डियों के हमले से निपटने के लिए कैलाश चौधरी का बड़ा बयान

0
192

जयपुर: केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि टिड्डियों के हमले अब पूरी तरह नियंत्रण में है और भविष्य में ऐसे हमले से निपटने के लिए सरकारी की पूरी तैयारी है. देश के सीमावर्ती इलाकों में फसलों पर टिड्डियों के हमले से हुए नुकसान और इसके नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा किए गए उपायों को लेकर राज्यसभा में उठाए गए सवालों का जवाब देते हुए कैलाश चौधरी ने उच्च सदन को बताया कि करीब 26 साल बाद देश में टिड्डियों का इतना बड़ा हमला देखा गया, लेकिन अब नियंत्रण में है.

उन्होंने कहा, ‘हमने आने वाले समय के लिए प्लानिंग की है. हमने लगभग 60 मशीनें और खरीदी हैं, जो जल्द ही आ जाएंगी, भविष्य में अगर हेलीकॉप्टर के माध्यम से एयर स्प्रे करने की आवश्यकता होगी, तो हम वह भी करेंगे. कैलाश चौधरी उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य अनिल अग्रवाल के सवालों का जवाब दे रहे थे.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद अग्रवाल ने एक अनुपूरक सवाल में टिड्डियों के हमले किसानों को हो रहे नुकसान और उससे निपटने के लिए सरकार द्वारा किए गए उपायों की जानकारी मांगी थी. भाजपा सांसद ने टिड्डियों के हमले से हुए फसलों के नुकसान का आकलन की जानकारी भी मांगी.

कृषि मंत्रालय द्वारा दी गई लिखित जानकारी के अनुसार, गुजरात में जिन स्थानों पर 33 फीसदी या उससे अधिक फसल खराब हुई है. वहां किसानों को राहत पैकेज प्रदान करने की घोषणा की गई है और प्रभावित किसानों को अधिकतम दो हेक्टेयर तक के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष से 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से तथा राज्य बजट से 5,000 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से सहायता प्रदान की जाएगी. इसके तहत प्रदेश के 11,230 किसानों के लिए 32.76 करोड़ रुपये राहत पैकेज का कुल प्रावधन किया गया और प्रभावित किसानों को भुगतान की प्रक्रिया प्रगति पर है.

READ More...  कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 24 घंटे में 10957 नए केस, जानें राज्यों का हाल

वहीं, राजस्थान में राज्य सरकार द्वारा गिरदावरी की गई है. किसानों को भुगतान करने के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष के तहत 90.20 करोड़ रुपये का कुल बजट आवंटित किया गया है, जिसमें से 54,150 किसानों को 86.21 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है.

अग्रवाल द्वारा पूछे गए तारांकित सवालों केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की ओर से सदन को दिए गए लिखित जवाब में बताया गया कि वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान गुजरात सरकार ने बताया कि टिड्डियों के हमले से राज्य में अनुमानित 18,727 हेक्टेयर फसल क्षतिग्रस्त हुई है. जिसमें से 33 फीसदी व उससे अधिक क्षतिग्रस्त फसलों का रकबा 13,881 हेक्टेयर है. वहीं, राजस्थान में 2019-20 में टिड्डियों के हमले से कुल 1,49,821 हेक्टेयर फसल क्षतिग्रस्त हुई. जिसमें से 33 फीसदी या उससे अधिक क्षतिग्रस्त फसलों का रकबा 1,34,959 हेक्टेयर है.