JLF 2020: एक्ट्रेस नंदिता दास ने की CAA की खिलाफत, कहा- सभी को उठानी चाहिए आवाज

0
66

जयपुर: राजस्थान की राजधानी में जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल- 2020 (jaipur literature festival) के पहले ही दिन साहित्य पर चर्चा के बीच राजनीतिक मुद्दे भी छाए हुए हैं. एक्ट्रेस नंदिता दास ने फेस्ट में सीएए (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी (National Register of Citizens) की खिलाफत करते हुए इसके विरोध में सभी को आवाज उठाने की बात कही. JLF में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए नंदिता ने कहा, ‘भारत एक सेक्युलर कंट्री है लेकिन देश में आज बहुत समस्याएं हैं. देश में बेरोजगारी इतनी बढ़ गई है, जो पहली कभी नहीं थी. आर्थिक हालत में बदतर होते जा रहे हैं लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है जब धर्म के नाम पर लोगों से पहचान मांगी जा रही है. इस बात का विरोध हो रहा है, छात्रों ने इसकी शुरुआत की है. इसके खिलाफ सभी को आवाज उठानी चाहिए. उन्होंने कहा, मतभेद होना अलग बात है, लेकिन सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है.

नंदिता दास जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि आपसे भारतीय होने का सूबत मांगा जा रहा है. और दिल्ली की तरह शाहीन बाग हर जगह बन रहे हैं. उन्होंने कहा देश में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब धर्म के नाम पर लोगों को विभाजित किया जा रहा है.

मंटों से चर्चा फिर चर्चा में आई थीं नंदिता

बता दें कि नंदिता दास की गिनती उन अभिनेत्रियों में की जाती हैं जिन्होंने अपने बेहतरीन अभिनय से पूरी दुनिया में पहचान बनाई है. अभिनय के अलावा नंदिता निर्देशन के लिए भी जानी जाती है. उन्होंने न केवल हिंदी बल्कि, अंग्रेजी, बंगाली, मलयालम, तेलुगू, उर्दू, तमिल, मराठी, उडि़या और कन्नड भाषा की फिल्मों में भी काम किया है. 2018 में उनके निर्देशन में बनी फिल्म ‘मंटो’ भी चर्चा में रही. यह फिल्म लेखक सआदत हसन मंटो पर बनाई गई थी.

READ More...  CM AShok गहलोत ने बड़ी चौपड़ पर फहराया तिरंगा, जयपुर में गणतंत्र दिवस 2020 की धूम

कई चर्चित और विवादित फिल्मों से रहा है नंदिता का नाता

1999 में रिलीज हुई नंदिता की फिल्म अर्थ भारत-पाकिस्तान बटवारे पर बनाई गई थी. इस फिल्म में नंदिता के साथ आमिर खान भी नजर आए थे. फिल्म का निर्देशन दीपा मेहता ने किया था और संगीत एआर रहमान का था. नंदिता दास ने इस फिल्म में शांता का रोल निभाया था जो एक मुस्लिम लड़के से प्रेम करती है. दीपा मेहता की फिल्म फायर की वजह से नंदिता की बॉलीवुड में काफी चर्चा हुई. ये फिल्म समलैंगिक रिश्ते को लेकर बनाई गई थी. फायर दो महिलाओं के अकेलेपन को दर्शाती है. फिल्म में शबाना और नंदिता के बीच लिप लॉक सीन फिल्माया गया था जिसकी वजह से फिल्म विवादों में घिर गई थी