जानिए मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र का समय, महत्व और अन्य जानकारी

0
34

दीपावली त्यौहार के मद्देनजर मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र के लिए एक घंटे को छोड़कर शेयर बाजार पूरे दिन बंद रहता है. मान्यताओं के अनुसार मुहूर्त व्यापार अगले वर्ष भर में धन और समृद्धि लाता है. मुहूर्त सत्र शुरू होने से पहले व्यापारी चोपड़ा पूजा करते हैं जिसमें लेखांकन पुस्तकों की पूजा की जाती है.

1957 में शुरू हुआ था  मुहूर्त व्यापार
1957 में BSE पर मुहूर्त व्यापार शुरू हुआ. यह दो प्रमुख व्यापारिक समुदायों गुजरातियों और मारवाड़ी लोगों से शुरू हुआ. हर दिवाली पर उनके नेतृत्व और धन की पूजा करने की एक सदी पुरानी परंपरा है. NSE में 1992 से यह आया है. BSE और NSE दोनों दिवाली की शाम को एक घंटे के लिए व्यापार करते हैं.

इस साल मुहूर्त ट्रेडिंग शाम 6:15 बजे शुरू होगी और 14 नवंबर को शाम 7:15 बजे तक चलेगी. शाम 6:00 बजे से शाम 6:08 बजे तक प्री-ओपन मुहूर्त सत्र चलेगा और पोस्ट क्लोजिंग मुहूर्त 7.25 से 7.35 के बीच होगा. मुहूर्त एक ऐसा अवसर है जिसमें निवेश और व्यापारिक समुदाय धन और समृद्धि की देवी लक्ष्मी को याद करते हैं, और संवत या नए साल की शुरुआत का जश्न मनाते हैं.
एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के जयकिशन सीनियर इक्विटी रिसर्च एनालिस्ट जयकिशन परमार कहते हैं कि हिंदू कैलेंडर के अनुसार मुहूर्त एक शुभ समय माना जाता है. और इस घंटे के दौरान ग्रह खुद को इस तरह से सेट करता है कि इस दौरान किए गए काम अच्छे परिणाम और समृद्धि देते हैं. उनका यह भी कहना है कि व्यापारियों की आशावादिता के कारण मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान बाजार आमतौर पर तेज होता है. लेकिन परमार व्यापारियों को अपने पैसे का इन्वेस्टमेंट करने से पहले उचित जानकारी में परिश्रम की सलाह देते हैं.

READ More...  CBI और मेडिकल बोर्ड की होगी बैठक,सुशांत सिंह राजपूत की मौत का सच कल होगा उजागर

मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन 2020 का समय
>> ब्लॉक डील सेशन: 5:45 PM से 6:00 PM

>> प्री-ओपन मुहूर्त सेशन: 6:00 PM से 6:08 PM

>> मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन: 6:15 PM से 7:15 PM

>> कॉल नीलामी: 6:20 PM से 7:05 PM

>> क्लोजिंग के बाद मुहूर्त सेशन: 7:25 PM से 7:35 PM