लैब टेक्नी्शियन ने कोरोना टेस्ट के बहाने लड़की के प्राइवेट पार्ट से लिया सैंपल

0
800

लड़की की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी लैब टैक्नीशियन के खिलाफ रेप का मामला दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

मुंबई. कोरोना महामारी के बीच महाराष्ट्र के अमरावती से एक शर्मनाक घटना सामने आई है. अमरावती में एक लैब टेक्नीशियन ने कोरोना टेस्ट के बहाने एक 24 साल की लड़की के प्राइवेट पार्ट से स्वाब के नमूने ले लिए. इस घटना की जानकारी जब परिजनों को लगी तो उन्हें शक हुआ. इसके बाद उन्होंने डॉक्टरों से इस तरह की जांच की बात पूछी तो उन्हें बताया गया कि ऐसा कोई नमूना नहीं लिया जा रहा. लड़की की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी लैब टैक्नीशियन के खिलाफ रेप का मामला दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

आरोपी अल्पेश अशोक देशमुख अमरावती के कोविड ट्रॉमा सेंटर में लै​ब टेक्नीशियन है. बताया जा रहा है कि लड़की अमरावती के एक सर्विस सेंटर में काम करती है. वहां पर एक कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गया, जिसके बाद ऐहतियात के तौर पर 28 जुलाई को बाकी सभी कर्मचारियों का टेस्ट सरकारी लैब कोविड ट्रॉमा सेंटर में कराया गया. कोरोना टेस्ट के लिए लैब गई लड़की को लैब टेक्नीशियन ने बताया कि कोरोनो वायरस के सटीक परीक्षण परिणामों के लिए प्राइवेट पार्ट से सैंपल लेना बेहद जरूरी है.

टेस्ट कराकर घर लौटी लड़की ने इस घटना की जानकारी अपने भाई को दी. इस पर भाई को शक हुआ और उसने डॉक्टरों से इसकी जांच की जानकारी ली. डॉक्टरों ने बताया कि इस तरह का कोई टेस्ट नहीं किया जा रहा है. इसके बाद इस पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी गई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. महाराष्ट्र की महिला और बाल विकास मंत्री यशोमति ठाकुर ने घटना को गंभीरता से लिया है और दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है.

READ More...  लंदन में आयोजित प्रवासी राजस्थानी सम्मेलन में मंच साझा करेंगे पालयट और पूनिया

मुंबई में 1.14 लाख कोरोना के मरीज, 53 की मौत
मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के शुक्रवार को 1,100 नए मामले सामने आए हैं. वहीं इस महामारी से महानगर में 53 और लोगों की मौत हो गई है. बृहन्मुंबई महानगरपालिका के मुताबिक शहर में कोविड-19 के 1,100 नए मामले सामने आने के साथ अब तक यहां संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,14,287 पहुंच गई है, जबकि संक्रमण से 53 और लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 6,350 हो गई है. महानगरपालिका के मुताबिक शहर में अभी 20,569 इलाजरत मरीज हैं, जबकि कोविड-19 के 787 नये संदिग्ध मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.