जानें पाइल्स की समस्या से पीड़ित लोगों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

0
24

अनियमित जीवनशैली और खानपान के कारण लोगों को कई गंभीर शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इन्हीं में से एक बवासीर है. इसमें शौच करते समय अत्यधिक पीड़ा और खुजली होती है. बवासीर दो प्रकार से हो सकता है एक खूनी बवासीर और दूसरा मस्से वाला बवासीर. बवासीर को पाइल्स भी कहा जाता है, जो गुदा और मलाशय में मौजूद नसों में सूजन व तनाव के कारण होता है. बवासीर से पीड़ित लोगों को अपने खानपान का बहुत अधिक ध्यान रखने की जरूरत होती है, क्योंकि ऐसा न करने पर समस्या विकराल रूप ले सकती है. आइए जानते हैं कि इस स्थिति में खाने-पीने को लेकर कैसे सावधानी बरतनी चाहिए.

मिर्च मसालों से रहें दूर

बहुत से लोग मिर्च और चटपटा मसालेदार खाना बेहद पसंद करते हैं, लेकिन बवासीर से ग्रस्त मरीजों को हरी या लाल मिर्च खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि यह स्थिति को बदतर बनाता है. इसके अलावा उन्हें तेज मसालों के सेवन से भी बचना चाहिए.

नशा कर सकता है स्थिति को खराब

नशा करना बवासीर रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है. जो लोग सुपारी, गुटखा, पान मसाला के शौकीन हैं उन्हें इन चीजों से बचना चाहिए. बवासीर रोगियों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि नशे की लत हो जाने पर कई बार देखने को मिलता है कि बिना नशा किए उनका पेट साफ नहीं हो पाता है. ऐसे में यदि किसी में नशे की लत है, तो उसमें बवासीर की स्थिति गंभीर हो सकती है. जंक फूड खाने में जितना स्वादिष्ट लगता है, उतना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है क्योंकि इनसे पौष्टिक चीजों की जगह फैट और अनावश्यक कार्बोहाइड्रेट होता है, जो शरीर को स्थूल बनाता है. ऐसे में बवासीर के रोगियों को जंक फूड के सेवन से विशेष परहेज करना चाहिए.

READ More...  स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होता है बेकिंग सोडा, जानें कैसे करें इस्तेमाल

बाहरी खाने को करें अवॉइड

बवासीर के रोगियों को बाहरी खाने से भी दूर रहना चाहिए. होटल या रेस्टोरेंट में मिलने वाले खाने में ज्यादा मसालें व तेल होता है, जिससे पाचन बिगड़ने का खतरा रहता है. साथ ही ऐसे लोगों को मांस खाने से भी बचना चाहिए, क्योंकि जो भी मांसाहारी खाना पकाया जाता है, वह तेज मसालों के साथ ही स्वादिष्ट लगता है.

बवासीर के मरीज जरूर खाएं ये चीजें

बवासीर के रोगियों को हरी पत्तेदार सब्जियां खाना चाहिए, क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में कई एंटी ऑक्सीडेंट और पोषक तत्व होते हैं. पत्तेदार सब्जियां खाने से पाचन बेहतर होता है. बवासीर के मरीजों को पालक, पत्ता गोभी, शतावरी, फूलगोभी खीरा, गाजर, प्याज आदि का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा उन्हें दिन में कम से कम 3 से 4 लीटर पानी पीना चाहिए, क्योंकि अधिक पानी पीने से टॉक्सिंस यानी विषाक्त पदार्थ पेशाब के जरिए बाहर निकल जाते हैं. वहीं, कब्ज की समस्या भी ठीक होती है और शौच के समय कम तकलीफ होती है.

बवासीर के मरीजों को ओट्स, ब्राउन राइस, मल्टी ग्रेन ब्रेड आदि का सेवन करना चाहिए. ये आसानी से पच जाते हैं और शौच में दिक्कत नहीं होती है. दही या छाछ के सेवन से पाचन बेहतर होता है, जिससे मल त्याग में समस्या नहीं होती है. मूली का सेवन भी बवासीर में फायदेमंद हो सकता है. यदि नियमित रूप से मूली का सेवन किया जाए, तो बवासीर की समस्या ठीक हो जाती है.