सैर सपाटे पर निकले मध्य प्रदेश के विधायक, खाटूश्यामजी पहुंचे, मांगी ये मन्नत

0
140

जयपुर : मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में चल रहे राजनीतिक संकट (Political crisis) के बीच राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur) में 2 लग्जरी रिसॉर्ट में ठहराए गए मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक (MLAs) यहां मेहमाननवाजी का पूरा लुत्फ (Enjoy) उठा रहे हैं. शुक्रवार को कांग्रेस विधायक राजस्थान के सैर सपाटे पर निकले. विधायकों को जगप्रसिद्ध सीकर जिले में स्थित खाटूश्यामजी मंदिर (Khatushyamji Temple) में जा गया. वहां उन्होंने खाटू नरेश के दर्शन किए. विधायकों ने कहा कि बाबा के द्वार सभी मन्नत लेकर आए हैं. कमलनाथ सरकार का कार्यकाल पूरा हो ये ही मन्नत है. जो विधयाक बागी हुए हैं उनसे भी वे संपर्क में हैं.

सालासर बालाजी जाने का कार्यक्रम भी बन सकता है
सुबह करीब 9.30 बजे सभी विधायकों को 2-3 बसों से खाटूश्यामजी ले जाया गया. बताया जा रहा है कि विधायकों को सालासर बालाजी के भी दर्शन कराए जाएंगे. उसके बाद दोपहर में विधायक जयपुर लौटेंगे. यहां कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं से उनकी मुलाकात का कार्यक्रम है. इन वरिष्ठ नेताओं में राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे, मुकुल वासनिक और हरीश रावत शामिल बताए जा रहे हैं. वहीं पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल और सीएम अशोक गहलोत का भी विधायकों से मुलाकात का कार्यक्रम बताया जा रहा है.

विधायकों की सभी सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है
जयपुर के समीप ब्यूना विस्टा और ट्री हाउस रिसॉर्ट में रुके मध्यप्रदेश के विधायकों की यहां जमकर खातिरदारी की जा रही है. राजस्थान के कई वरिष्ठ नेता उनकी हर सुविधा का ख्याल रखने में जुटे हुए हैं. विधायकों के मनोरंजन का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है. गुरुवार रात को विधायकों को राजस्थान का प्रसिद्ध कालबेलिया नृत्य दिखाया गया था. उसके बाद शुक्रवार को दिनभर मेल मुलाकातों का दौर चला. दोपहर के भोजन के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक और हरीश रावत ने सभी विधायकों के साथ चर्चा की.

READ More...  NASA को चंद्रयान-2 विक्रम लैंडर का दुर्घटनास्थल और मलबा मिला, 6 सितंबर को ISRO से टूटा था संपर्क

मध्यप्रदेश में चल रही है जबर्दस्त सियासी उठापटक
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद वहां जबर्दस्त सियासी उठापटक चल रही है. सिंधिया कांग्रेस के छोड़ने के बाद कांग्रेस के कई विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया है. उसके बाद कांग्रेस ने अपने विधायकों को जयपुर शिफ्ट कर कर रखा है.