MHA गाइडलाइन का होगा पालन, सितंबर लास्ट में फाइनल ईयर के बाकी बचे एग्जाम

0
41
राजस्थान सरकार के मुताबिक, टाइम टेबल बनाकर फाइनल ईयर और लास्ट सेमेस्टर के एग्जाम सितंबर महीने में कराने की तैयारी की जा रही है.

जयपुर. राजस्थान में कोरोना महामारी के चलते उच्च शिक्षा की स्थगित हुई बकाया परीक्षाएं सितंबर महीने के तीसरे सप्ताह में आयोजित होंगी. परीक्षाओं को लेकर गहलोत सरकार ने आदेश जारी कर दिए हैं. राज्य के सभी सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों को यूजीसी के निर्देशानुसार यूनिवर्सिटी की अंतिम वर्ष की शेष परीक्षाएं आयोजित कराने को कहा गया है. 28 अगस्त के सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना में राज्य सरकार ने कहा है कि अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं समय सारणी बनाकर सितंबर महीने के तीसरे सप्ताह में कराई जाए.

सरकार के मुताबिक, अगर परीक्षाएं 30 सितंबर तक संभव नहीं हो तो परीक्षा की अवधि बढ़ाने के लिए  यूनिवर्सिटीज राज्य सरकार के जरिए यूजीसी को आवेदन कर सकेगी. परीक्षाओं के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन की पालना करनी होगी. इसके लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या भी बढ़ानी होगी. साथ ही सुरक्षात्मक उपायों को अमल में लाना होगा.

निर्देशों का करना होगा पालन

परीक्षा केंद्रों को लेकर परीक्षार्थियों की सहूलियत का ध्यान रखने के संबंध में भी उच्च शिक्षा विभाग ने तमाम विश्वविद्यालयों को दिशा निर्देश जारी किया है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराने के लिए सभी विश्वविद्यालयों को दिशा निर्देश जारी किए थे. इसके बाद से ही प्रदेश भर के छह लाख से ज्यादा विद्यार्थी इस असमंजस में थे कि उनकी परीक्षाएं कब कराई जाएगी. राजस्थान यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन और पोस्ट क्वेश्चन के फाइनल ईयर के 2 लाख 15000 विद्यार्थियों की परीक्षाओं को लेकर प्रशासन ने तैयारी कर ली है. विद्यार्थियों की संख्या देखते हुए अतिरिक्त परीक्षा केंद्रों को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है.

READ More...  मोदी बोले- 'देश में डिटेंशन सेंटर नहीं', तो क्या सरकार के ये जवाब झूठ हैं, झूठ हैं, झूठ हैं ?