मोदी सरकार का फैसला, हज यात्रियों को सुविधा देने वाला भारत दुनिया का पहला देश

0
172

नई दिल्ली : हज 2020 (Haj 2020) की यात्रा पर जाने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब छोटी से छोटी जानकारी के लिए उन्हें भटकना नहीं पड़ेगा. दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) से लेकर मक्का-मदीना (Makka Madina) तक की जानकारी मोबाइल (Mobile) पर मिल जाएगी. और यह सब संभव होगा पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) की ओर से शुरु की गईं ई-मसीहा, हज मोबाइल एप (Mobile App) और हज पोर्टल से. अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar abbas naqvi) का दावा है कि हज यात्रा को सौ फीसद डिजिटल से जोड़ने वाला भारत दुनिया का पहला देश बन गया है.

हज यात्रियों के मोबाइल पर आएंगी यह जानकारी

घर से निकलते ही हज यात्रा शुरु हो जाती है. हज 2020 के लिए जैसे ही यात्री अपने घर से निकलेगा तो उसके मोबाइल पर सबसे पहले यह जानकारी आ जाएगी कि दिल्ली एयरपोर्ट से उसकी फ्लाइट कितने बजे कौन से टर्मिनल से है. इसके साथ ही ई-लगेज टैगिंग सुविधा मिलेगी. मक्का एयरपोर्ट पर उतरने के बाद कौन से नंबर की बस किस जगह मिलेगी. बिल्डिंग का नाम और कमरा नंबर क्या होगा. कब और कितने बजे हज की किस रस्म को पूरा करने के लिए कहा जाना है, यह जानकारी भी मोबाइल पर आ जाएगी. इसके लिए मक्का में यात्रियों को मिलने वाली सिम को एक एप से जोड़ा जाएगा.

मुम्बई हज हाउस में बनाया 100 टेलीफोन लाइन का केन्द्र

सभी हाईटेक सुविधाएं मक्का-मदीना में भी हज यात्रियों को मिलती रहें, इसके लिए सऊदी अरब की सरकार के साथ भी बातचीत की गई है. एक दिसंबर 2019 को मक्का में अल्पसंख्यक कार्य मंत्री, मुख्तार अब्बास नकवी ने सऊदी अरब के हज मंत्री डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन के साथ भारत-सऊदी अरब के बीच हज 2020 के सम्बन्ध में द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किये थे. इसी तरह से भारत में भी रवाना होने से पहले हज यात्रियों को सुविधा लेने में किसी भी तरह की परेशानी न हो इसके लिए 100 टेलीफोन लाइन का एक सूचना केन्द्र शुरु किया गया है. यह पहला मौका होगा जब हज हाउस में इस तरह की सुविधा शुरु की गई है.

READ More...  आर-पार की लड़ाई के मूड में आये मंडी व्यापारी, 4 दिन बंद रहेंगी मंडियां, शुल्क नहीं चुकाएंगे

मक्का-मदीना में ई-मसीहा से होगा इलाज

वैसे तो हज यात्रियों को हज पर जाने से पहले हैल्थ कार्ड दिए गए हैं. लेकिन मक्का-मदीना में हज यात्रियों को कोई परेशानी न हो इसके लिए ई-मसीहा नाम से भी आनलाइन सुविधा शुरु की गई है. इस योजना के तहत हज यात्रियों की सेहत से जुडी सभी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध रहेंगी. किसी भी आपात स्थिति में फौरन किसी हज यात्री को मेडिकल सेवा उपलब्ध कराई जा सकेगी. वहीं दूसरी ओर जब भी हज यात्री को मेडिकल सुविधा की जरूरत होगी तो वह आनलाइन डिमांड कर सकेगा.