एक महीने तक किसी से नहीं करेंगे मुलाकात, CM अशोक गहलोत का बड़ा फैसला

0
72
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वायरस की वजह से अगले एक महीने तक किसी से भी व्यक्तिगत रूप से मुलाकात के कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं. इस दौरान सीएम सिर्फ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए उपलब्ध होंगे.

 

जयपुर. कोरोना वायरस संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अगले एक महीने तक किसी से भी व्यक्तिगत रूप से मुलाकात नहीं करने का फैसला किया है. जी हां, गहलोत के एक महीने के सभी मुलाकात कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं. एक सरकारी बयान के अनुसार गहलोत ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए दो गज की दूरी और स्वास्थ्य संबंधी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन ही मुख्य उपाय है और खुद का बचाव खुद करके ही इस संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है.

 

सीएम वीडियो कांफ्रेंस के जरिए रहेंगे उपलब्ध

बयान के अनुसार, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव के उद्देश्य से चिकित्सकों की सलाह के अनुसार मुख्यमंत्री ने आगामी एक महीने तक आमजन सहित अन्य सभी लोगों से व्यक्तिगत या सामूहिक रूप से मुलाकात नहीं करने का निर्णय किया है. इस दौरान वे सिर्फ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए उपलब्ध होंगे.

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री निवास व कार्यालय में भी लगभग 40 कार्मिक तथा मुख्यमंत्री सुरक्षा से जुडे़ पुलिसकर्मी एवं आरएसी के जवान के संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी. जबकि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमितों की कुल संख्या मंगलवार रात तक 94126 हो गयी जिनमें से 15090 रोगी उपचाराधीन हैं. वहीं राज्य में इस घातक वायरस से अब तक 1164 लोगों की मौत हो चुकी है.

READ More...  Union Budget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताए आम बजट 2020-21 के तीन प्रमुख आधार

 

मुख्यमंत्री गहलोत ने कही ये बात

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के संकट के इस दौर में प्रदेशवासियों के जीवन की रक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इसके लिए राज्य सरकार चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण के साथ ही हरसंभव प्रयास कर रही है, लेकिन इस महामारी को सबकी भागीदारी से ही रोका जा सकता है. उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील है कि मास्क लगाएं, दो गज की दूरी रखें, भीड़ से बचें, सामाजिक मेल-जोल कम से कम रखें, आवश्यकता होने पर ही घर से निकलें और स्वास्थ्य संबंधी अन्य दिशा-निर्देशों का भी पूरी जिम्मेदारी से पालन करें.