पाकिस्तानी खिलाड़ी ने जीता करोड़ों भारतीय फैंस का दिल, धोनी पर उठ रहे थे सवाल!

0
84

नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के 13वें सीजन में लेग स्पिनर इमरान ताहिर (Imran Tahir) को चेन्नई सुपरकिंग्स ने एक भी मैच खेलने का मौका नहीं दिया है. एमएस धोनी का कहना है कि जिस तरह की प्लेइंग इलेवन वो चाहते हैं उसमें इमरान ताहिर की जगह नहीं बन रही है. गजब की बात ये है कि इमरान ताहिर ही वो गेंदबाज हैं जिसने पिछले सीजन में चेन्नई सुपरकिंग्स को फाइनल तक पहुंचाया था. पाकिस्तानी मूल के ताहिर ने आईपीएल 2019 में सबसे ज्यादा 26 विकेट अपने नाम किये थे, बावजूद इसके वो अबतक एक भी मैच नहीं खेल सके हैं. वैसे चेन्नई सुपरकिंग्स टीम ने उन्हें पानी पिलाने के काम में जरूर लगा रखा है. ताहिर इन दिनों 12वें खिलाड़ी के तौर पर अपने साथी खिलाड़ियों को पानी पिलाते हुए दिखते हैं. ताहिर के फैंस उन्हें पानी पिलाता देख बेहद निराश हैं, कुछ तो धोनी पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं. हालांकि इमरान ताहिर ने इस मुद्दे पर जो जवाब दिया है, उसने करोड़ों भारतीय फैंस का दिल जीत लिया है.

इमरान ताहिर ने जीता दिल

इमरान ताहिर ने मैदान पर पिलाने के मुद्दे पर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘जब मैं खेलता था तो बहुत सारे खिलाड़ी मेरे लिए मैदान पर ड्रिंक्स लेकर आते थे. अब जब दूसरे खिलाड़ी खेल रहे हैं तो मेरी ये जिम्मेदारी बनती है कि मैं उनका कर्ज अदा करूं. ये मेरे बारे में नहीं है कि मैं खेल रहा हूं या नहीं, ये मेरी टीम की जीत के बारे में है. अगर मुझे मौका मिलता है तो मैं अपना सर्वश्रेष्ठ करूंगा और यही जरूरी है.’ इमरान ताहिर के इस ट्वीट ने साफतौर पर बता दिया है कि क्रिकेट एक टीम गेम है और इसमें कोई बड़ा या छोटा खिलाड़ी नहीं होता. बड़ी होती है तो सिर्फ टीम.

READ More...  24 सितंबर को होगा आगाज, कृषि विधेयकों के खिलाफ कांग्रेस के 'मेगा आंदोलन' का ऐलान

इमरान ताहिर को क्यों नहीं मिल रहा मौका?

इमरान ताहिर को मौका नहीं मिलने की वजह उनका विकल्प होना है. दरअसल चेन्नई सुपरकिंग्स के पास इस सीजन दो भारतीय लेग स्पिनर हैं. कर्ण शर्मा के साथ-साथ सीएसके ने इस सीजन में पीयूष चावला को भी टीम से जोड़ा है. हालांकि इनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. साथ ही इस बार टीम में सैम कर्रन भी हैं जो कि ऑलराउंडर हैं. इमरान ताहिर विदेशी खिलाड़ी हैं और सीएसके वॉटसन, डुप्लेसी, ब्रावो और कर्रन को मौका दे रही है. यही वजह है कि इमरान ताहिर की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं बन पा रही.