5 माह पहले ही मिली है भारतीय नागरिकता, राजस्थान में सरपंच चुनाव लड़ रही हैं पाकिस्तान मूल की नीता

0
123

पाकिस्तानी मूल (Pakistani national) की भारतीय बहू नीता कंवर (Neeta Kanwar Sodha) भारतीय नागरिकता (indian citizenship) हासिल करने के बाद टोंक जिले की नटवाड़ा (Natwara) ग्राम पंचायत से सरपंच (Sarpanch Chunav) का चुनाव लड़ रही हैं.

टोंक : पहले वो पाकिस्तान (Pakistan) से पढ़ने के लिए भारत आयीं, फिर आठ वर्ष पूर्व यहीं एक प्रतिष्ठित परिवार की बहू बनीं लेकिन 5 महीने पहले इस पाकिस्तानी बेटी को भारतीय नागरिकता (indian citizenship) मिली. भारतीय नागरिकता के साथ ही यह पाकिस्तानी मूल (Pakistani national) की भारतीय बहू सरपंच चुनाव में अपना भाग्य आजमा रही हैं. हम बात कर रहे हैं टोंक जिले की नटवाड़ा (Natwara) ग्राम पंचायत से सरपंच (Sarpanch Chunav) पद के लिए चुनाव लड़ रही नीता कंवर (Neeta Kanwar Sodha) की. नीता यहां गढ़ के आलीशान महल को छोड़ घूंघट की ओट में अपने चुनाव प्रचार में जुटी हुई हैं. अगली स्लाइड्स में तस्वीरों के साथ पढ़ें- नटवाड़ा की पंचायती में पाकिस्तानी दखल की पूरी कहानी…

नटवाड़ा गांव की सड़कों पर लंबे घूंघट में सरपंच पद के लिए वोट मांगने के लिए निकली ये हैं नीता कंवर,आठ वर्ष पूर्व यहां के पूर्व ठिकानेदार और तीन बार सरपंच रहे लक्ष्मण करण के पुत्र पुण्य प्रताप करण के साथ विवाह बंधन में बंध इस गांव में आई थीं नीता,नीता के पाक नागरिक होने के चलते वे पांच माह पूर्व तक यहां पाकिस्तानी बहू के रूप में पहचानी जाती रहीं

पांच माह पूर्व यानी सितंबर 2019 में ही नीता को लंबी कानूनी प्रक्रिया के बाद भारतीय नागरिकता हासिल हुई,भारतीय नागरिकता और नटवाड़ा ग्राम पंचायत के सरपंच का पद सामान्य महिला के लिए आरक्षित हो जाने से इसबार नीता भी चुनाव के मैदान में कूद पड़ी हैं, अपने चुनाव मैदान में उतरने के पीछे नीता ने ग्रामीणों द्वारा उनको दिया जाने वाला स्नेह और ससुर लक्ष्मण करण से मिली प्रेरणा बताया है, नीता कंवर जहां भी चुनाव प्रचार में जाती हैं वे ग्रामीणों से बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षा को अपनी प्राथमिकता बताती हैं.

READ More...  ICC WOMEN T20 WORLD CUP: भारत की महिला क्रिकेट टीम पहली बार टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में किया प्रवेश