3 लोगों पर हमला करने वाले पैंथर को ग्रामीणों ने मार कर दफनाया,वन विभाग को खबर तक नहीं

0
237
This is a portrait of the leopard ( panther, Panthera pardus).

चूरू : राजस्थान के शेखावाटी इलाके में पिछले 15 दिनों से ग्रामीणों में दहशत पैदा करने वाले एक पैंथर (Panther) को लोगों ने मंगलवार को पीट-पीटकर मार डाला और वहीं जमीन में दफना दिया. चूरू  (Churu)के साण्डवा थाना क्षेत्र के गांव ज्याक की इस घटना से वन विभाग (Forest Department) के अधिकारियों ने अनभिज्ञता जाहिर की है. हालांकि सोशल मीडिया पर मृत पैंथर और उसको बैलगाडी पर ले जाते हुए का वीडियो वायरल होने बाद वन विभाग चेता है और बुधवार सुबह दफनाए हुए पैंथर का शव निकालने की बात सामने आई है.

15 दिन से पैंथर देखे जाने की सूचना, 3 लोगों पर हमला

जानकारी के मुताबिक गांव ज्याक में मंगलवार को पैंथर देखा गया, जिसने तीन ग्रामीणों पर हमला कर दिया. हमले से गुस्साये ग्रामीणों ने पैंथर को घेर कर लाठियों और कुल्हाडियों से पीट-पीटकर मार डाला. बताया जा रहा है कि ग्रामीणों ने मृत पैंथर के शव को बैलगाडी में डाला और उसकी शव यात्रा निकालते हुए उसे आनन-फानन में दफना भी दिया. इससे पहले करीब पंद्रह दिन से ग्रामीणों की ओर से वन विभाग को पैंथर देखे जाने की सूचना देना बताया गया.

वायरल वीडियो में ग्रामीण कर रहे घटना की पुष्टि

वायरल विडियों में ग्रामीण इस बात की पुष्टि भी कर रहा है. इतनी बड़ी वारदात के बाद भी न तो वन विभाग की टीम और न ही साण्डवा पुलिस देर रात तक मामले की जानकारी लेने गांव ज्याक पहुंची. सांडवा के वन्यजीव प्रेमी जुगल प्रजापति ने इस सम्बन्ध में आला अधिकारियों तक को सूचना दी लेकिन बावजूद इसके इस घटना का किसी के पास कोई जवाब नहीं था.

READ More...  फ्लोर टेस्ट 26 मार्च तक टला, शर्तें लागू*: शिवराज बोले- कमलनाथ रणछोड़दास हैं, उनकी सरकार को कोरोना भी नहीं बचा सकता

लापरवाही सामने आई तो होगी कार्रवाई!

डीएफओ से लेकर रैंजर तथा साण्डवा पुलिस से जब इस सम्बन्ध में जानकारी चाही गई तो सभी ने इस मामले से अनभिज्ञता जताते हुए कुछ भी बताने से इंकार कर दिया. क्षेत्र के वन्यजीव प्रेमियों में वन विभाग और पुलिस के उदासीन रवैये को लेकर रोष है. हालांकि चूरू डीएफओ बीएल शर्मा ने इस पूरे प्रकरण में वन विभाग के किसी कर्मचारी की लापरवाही सामने आने पर कार्रवाई की बात कही है.