थाने पर पत्थरबाजी, गाड़ी-ATM में तोड़फोड़, देखें क्या हैं सुबह के हालात

0
52
बेंगलुरु में एक फेसबुक पोस्ट से खफा होकर कुछ लोगों ने विधायक के घर पर हमला कर दिया. इस दौरान कई वाहनों को फूंका गया और तोड़फोड़ की गई.
  • बेंगलुरु में मंगलवार रात को भड़की हिंसा
  • सुबह स्थानीय लोगों ने देखा मंजर

कोरोना संकट काल में जब हर किसी को भीड़ में जाने से बचने के लिए कहा जा रहा है, ऐसे वक्त में कर्नाटक के बेंगलुरु में बवाल हो गया. मंगलवार देर रात एक फेसबुक पोस्ट से आहत हुए कुछ लोगों ने हंगामा मचाया, पुलिस स्टेशन और विधायक के घर को आग के हवाले कर दिया. अब बुधवार की सुबह जब रोशनी में सारी तस्वीर साफ हुई तो बेंगलुरु की सड़कों पर क्या तांडव हुआ ये दिख पाया.

यहां गाड़ियों को जला दिया गया है, एटीएम में तोड़फोड़ की गई. विधायक के घर पर हमला करने के अलावा आसपास के लोगों के घरों पर भी हमला किया गया, जिसके कारण लोगों के घरों की खिड़कियां भी टूट गईं.

बुधवार की सुबह स्थानीय निवासी जब घर से बाहर निकले तो हर ओर बाइक-गाड़ी टूटी बिखरी हुई पड़ी थी, इसके अलावा पत्थरों का सैलाब भी था. अभी हिंसा वाले इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है, जो आज रात 12 बजे तक रहेगा. उसके बाद हालात को देखते हुए फैसला लिया जाएगा.

दरअसल, बेंगलुरु के हाली पुलिस स्टेशन इलाके में कांग्रेस विधायक के करीबी द्वारा एक फेसबुक पोस्ट लिखा गया. इस पर कुछ लोगों को आपत्ति हुई और वो इसकी शिकायत दर्ज कराने पुलिस स्टेशन में पहुंचे. लेकिन, पुलिस ने आपसी तरीके से मामला सुलझाने के लिए कह दिया.

READ More...  राजस्थान: मॉरिशस के राष्ट्रपति नहीं कर पाए सामोद वीर हनुमान के दर्शन, अधिकारियों ने रोप-वे नहीं खोला तो नीचे से ही हाथ जोड़े और चले गए

इसी के बाद कई लोगों की भीड़ पुलिस स्टेशन के बाहर इकट्ठा हो गई और नारेबाजी करने लगी. देखते-देखते ही बवाल हो गया और पत्थरबाजी शुरू हो गई. इसके बाद बेकाबू भीड़ ने पुलिस स्टेशन, विधायक को घर को अपना निशाना बनाया. वहां तोड़फोड़ की, आगजनी की और पुलिस के दर्जनों वाहन को भी फूंक दिया.

इस पूरे बवाल में 60 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए, भीड़ को काबू में लाने के लिए पुलिस ने खुली फायरिंग की. इसमें दो लोगों की मौत हो गई. अभी हिंसा वाले इलाके में कर्फ्यू लगाया गया है, जबकि पूरे बेंगलुरु में धारा 144 लगा दी गई है.