प्रियंका गांधी वाड्रा से बदसलूकी मामला: महिला CO ने कहा- कोई अभद्रता नहीं की गई, सिर्फ फर्ज निभाया

0
177

लखनऊ : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) द्वारा यूपी पुलिस (UP Police) पर लगाए गए बदसलूकी के आरोप पर महिला सीओ डॉ अर्चना सिंह ने कहा है कि उनसे किसी भी प्रकार की अभद्रता नहीं की गई. उन्होंने कहा कि बिना किसी जानकारी के उनके फ्लीट का रास्ता बदला गया. सुरक्षा की दृष्टि से सिर्फ रास्ता जानना चाहा था.

सीओ अर्चना सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया कि प्रियंका गांधी की फ्लीट की जिम्मेदारी उनके पास थी. जो जानकारी थी, उसके मुताबिक उनका काफिला कौल हाउस जाने के लिए निकला, लेकिन रास्ते में बगैर जानकारी के फ्लीट का रास्ता बदल दिया गया था. अर्चना सिंह ने बताया कि उन्‍होंने सुरक्षा की दृष्टि से रास्ता जानना चाहा था. उन्‍होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर धक्का-मुक्की करने का आरोप लगाया है. महिला पुलिस अधिकारी ने बताया कि धक्‍का-मुक्‍की में वह गिर गई थीं. अर्चना ने कहा कि प्रियंका गांधी बगैर हेलमेट लगाए स्कूटी पर बैठी थीं. सुरक्षा की दृष्टि से हेलमेट लगाने को भी कहा गया. उसके बाद वह पैदल मार्च करने लगीं. उनके साथ कोई बदसलूकी नहीं हुई, मैंने अपना कर्तव्य निभाया.

प्रियंका के आरोप पर एसएसपी लखनऊ ने बयान जारी करते हुए कहा कि गला पकड़ने और गिराने की बात पूरी तरह से गलत है. सीओ ने प्रियंका गांधी से दौरे की जानकारी मांगी थी, कांग्रेस नेताओं ने दौरे की जानकारी देने से मना किया.

प्रियंका ने किया पैदल मार्च

तकरीबन 4 से 5 किलोमीटर पैदल चलकर प्रियंका गांधी एसआर दारापुरी के घर पहुंचीं. इस दौरान प्रियंका के समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा. पुलिस-प्रशासन दोनों ही प्रियंका के कद के आगे बौने नजर आए. एसआर दारापुरी के घर के अलावा वह लखनऊ में हिंसा के आरोप में गिरफ्तार सदफ जफर के घर भी पैदल ही पहुंचीं. हालांकि, इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ लखनऊ पुलिस द्वारा अभद्रता किए जाने के आरोप भी लगे.

READ More...  JLF2020 में आज शशि थरूर, जयराम रामेश,शुभा मुद्गल, शोभा डे की बात