पत्रकारों ने ज्ञापन दिया मुख्यमंत्री से निवेदन किया गया कि पत्रकारों को भी 50 लाख के बीमा योजना में सम्मिलित कर सुरक्षा प्रदान की जाए

0
277

करौली। हाल ही राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा कोरोना महामारी के दौरान जनता की रक्षार्थ कार्यरत कर्मचारी, सविंदा, मानदेय कर्मचारियों हेतु 50 लाख रुपये के बीमा योजना की घोषणा की गई है। लेकिन कोविड 19 जैसी वैश्विक महामारी से लड़ाई में पूरे तत्परता से जुटने वाले लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को सम्मिलित नही किया गया है जिसको लेकर मंगलवार को करौली जिला मुख्यालय पर आईएफडब्ल्यूजे करौली जिलाध्यक्ष पुष्पेंद्र लवानिया के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को एक ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में बताया गया कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ भी अन्य कर्मचारियों की भांति अपने स्वास्थ्य व जीवन की चिंता किये बिना दिन रात विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत है सरकार द्वारा जनउपयोगी सूचनाओं, गतिविधियों को जन जन तक पहुंचाकर इस कार्य मे उतनी ही क्षमता से लगा हुआ है जितने कि अन्य। इसीलिए पत्रकारों को भी कोरोना के संक्रमण का उतना ही खतरा है जितना अन्य को है इसीलिए ज्ञापन के दौरान मुख्यमंत्री से निवेदन किया गया कि पत्रकारों को भी 50 लाख के बीमा योजना में सम्मिलित कर सुरक्षा प्रदान की जाए। ज्ञापन के दौरान पुष्पेंद्र लवानिया, तरुण गुप्ता, नितेश भारद्वाज, आकाश शर्मा, मनीष शर्मा सहित समस्त पत्रकारगण मौजूद रहे।

READ More...  19 पारी, 0 शतक : ये हाल है ‘रन मशीन’ का, तीसरी बार ऐसे दौर से गुजर रहे विराट कोहली