राहुल द्रविड़ ने दी विराट कोहली को चेतावनी, बताया- क्यों इस बार मुश्किल होगा ऑस्टेलियाई दौरा

0
121

नई दिल्ली : महान बल्लेबाज राहुल द्रविड़ को लगता है कि स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के इस बार ऑस्ट्रेलियाई टीम में मौजूद होने से भारत को वहां के टेस्ट दौरे पर कड़ी चुनौती का सामना करना होगा. स्मिथ और वॉर्नर दक्षिण अफ्रीका में हुई गेंद से छेड़छाड़ की घटना के कारण लगे प्रतिबंध की वजह से ऑस्ट्रेलिया की उस टीम में शामिल नहीं थे जिस पर भारत ने 2018 में उसकी सरजमीं ऐतिहासिक टेस्ट श्रृंखला जीती थी.

स्टीव स्मिथ और वॉर्नर होंगे बड़े चुनौती
इन दोनों की अनुपस्थिति में भारत ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 2018-19 में अपनी पहली टेस्ट श्रृंखला में जीत हासिल की थी. द्रविड़ ने फेसबुक पर दिखाये गये चैनल के ‘सोनी टेन पिट स्टॉप’ शो में कहा, ‘स्मिथ और वॉर्नर की कमी ऑस्ट्रेलिया के लिये बहुत बड़ी चीज थी क्योंकि उनका टीम पर काफी बड़ा प्रभाव है. ये दोनों ऑस्ट्रेलिया के दो शीर्ष बल्लेबाज हैं और ये टीम के लिये सबसे ज्यादा रन जुटाते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हमने देखा है कि स्मिथ जैसे खिलाड़ी का एशेज में क्या प्रभाव था, यहां तक कि वार्नर फार्म में नहीं थे, लेकिन वह मार्नस लाबुशेन के साथ श्रृंखला को आगे ले गये. लेकिन हां, इन दोनों की उपस्थिति से भारत के लिये यह दौरा इस बार काफी चुनौतीपूर्ण होगा.’

भारत में है टक्कर देने की काबिलियत

भारत को ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर तीन दिसंबर से ब्रिसबेन में शुरू होने वाली चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलनी है. उन्होंने हालांकि कहा कि विराट कोहली और उनकी टीम में ऑस्ट्रेलिया को टक्कर देने की काबिलियत है. उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैं कहूंगा कि भारत में प्रतिस्पर्धा करने के लिये ताकत मौजूद हैं और उनके पास शीर्ष स्तरीय खिलाड़ी भी हैं. इसलिये यह श्रृंखला अच्छी होनी चाहिए, हर कोई इस भिड़त को देखने के लिये उत्सुक है.’

READ More...  देश में कोरोना से अब तक 50 हजार से अधिक मौतें, 24 घंटे में US-ब्राजील से ज्यादा केस

दिसंबर में खेली जाएगी टेस्ट सीरीज
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने गुरुवार को घोषणा की थी भारत के खिलाफ टेस्ट मैच क्रमश: ब्रिस्बेन (3-7 दिसंबर), एडिलेड (11-15 दिसंबर), मेलबर्न (26-30 दिसंबर) और सिडनी (3-7 जनवरी) में खेले जाएंगे. हालांकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी केविन रॉबर्ट्स ने कहा कि स्वास्थ्य संकट को देखते हुए यात्रा पाबंदियों के कारण कार्यक्रम में बदलाव हो सकता है.