निकाय प्रमुख का चुनाव: बाड़ाबंदी जोरों पर, BJP-कांग्रेस की नजरें निर्दलियों पर

0
75

जयपुर. स्थानीय निकाय चुनाव (Local body elections) के तहत पार्षदों के बाद अब निकाय प्रमुख के चुनाव में जुटी कांग्रेस-बीजेपी (Congress, BJP) अपना पूरा फोकस बाड़ेबंदी पर कर रखा है. दोनों ही पार्टियां अपने-अपने पार्षदों के साथ अब निर्दलीय पार्षदों (Independent Councilors) को भी अपने खेमों में शामिल करने के लिए जोर-शोर से जुटी है. आलम यह है कि पार्टियां द्वारा अपने पार्षदों को टूटने से बचाने के लिए बाड़ेबंदी के स्थान भी बदले (Location Change) जा रहे हैं. दोनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं (Senior leaders) की निगरानी में पार्षदों की बाड़ेबंदी चल रही है.

कांग्रेस ने 961 और बीजेपी ने जीते हैं 737 वार्ड
49 निकायों के चुनाव परिणामों कांग्रेस ने बीजेपी के मुकाबले बढ़त ले रखी है. 2105 वार्डों में से कांग्रेस ने 961 और बीजेपी ने 737 वार्ड जीते हैं. इनके अलावा 386 वार्डों पर निर्दलीय काबिज हुए हैं, जबकि बसपा महज 16, माकपा 3 और एनसीपी 2 ही वार्ड जीत पाई हैं. परिणामों के बाद अब 20 निकायों में कांग्रेस और 6 में बीजेपी का बोर्ड बनना तय हो गया है.

निर्दलियों की जमकर हो रही है मान मनुहार

शेष निकायों में निर्दलीय अहम भूमिका निभाएंगे, लिहाजा अभी उनकी जमकर मान मनुहार हो रही है. बीजेपी-कांग्रेस ने अपने-अपने पार्षदों की तो पहले से ही बाड़ाबंदी कर रखी है. अब उनकी नजरें निर्दलीय पार्षदों पर है, क्योंकि 23 निकायों में उनके बूते ही पार्टियों की नैया पार होनी है. इसलिए अब दोनों पार्टियों ने निर्दलियों के दबदबे वाले निकायों में बोर्ड बनाने के लिए अपने वरिष्ठ नेताओं को लगा दिया है.

कल नामांकन का आखिरी दिन है
गुरुवार को निकाय प्रमुखों के नामांकन का आखिरी दिन है. इससे पहले बुधवार रात को बाड़ाबंदी में लिए गए पार्षदों से राय मशविरा किया जाएगा. उसके बाद सभापति/चेयरमैन/मेयर के नाम पर मुहर लगाई जाएगी. बीजेपी-कांग्रेस के जहां बोर्ड बनना तय है, वहां पार्टियों में जबर्दस्त लॉबिंग चल रही है. दोनों ही पार्टियों के वरिष्ठ नेता इस लॉबिंग पर भी नजर बनाए हुए हैं. निकाय प्रमुख के लिए मतदान 26 नवंबर को होगा. उसके तत्काल बाद मतगणना होगी.

READ More...  एवियन बोटुलिज्म की वजह से सांभर झील बनी परिदों की कब्रगाह, CM ने मांगी केंद्र से मदद